संजीव रंजन, रांची

बिरसा मुंडा फुटबॉल स्टेडियम के सिंथेटिक ट्रैक पर दौड़ना या टहलना हो इसके लिए जेब ढीली करनी होगी। पे एंड प्ले स्किम के तहत सुबह टहलने वाले हो या एथलेटिक्स में हाथ आजमाने को तैयार युवा खिलाड़ी सभी को यहां अभ्यास करने के लिए प्रतिमाह दो सौ रुपये या फिर वार्षिक दो हजार रुपये शुल्क देना होगा। शुल्क देने के अलावा यहां के नियम कानून को मानने की बाध्यता होगी वरना आप बाहर भी किए जा सकते हैं। साई, डे बोर्डिग, आवासीय सेंटर या फिर नेशनल में पदक विजेता मुफ्त में कर सकेंगे अभ्यास

बिरसा मुंडा में लगाए गए नए ट्रैक पर भारतीय खेल प्राधिकरण (साई), राज्य सरकार द्वारा संचालित आवासीय व डे बोर्डिग सेंटर के खिलाड़ी या नेशनल स्तर पर पदक विजेता खिलाड़ी यहां बिना शुल्क के अभ्यास कर सकते हैं। खिलाड़ी अगर चाहे तो सुबह व शाम दोनों समय अभ्यास कर सकते हैं। खिलाड़ियों का अभ्यास पहली प्राथमिकता

होटवार में बने बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम में भले ही राजधानी के खिलाड़ी अभ्यास नहीं कर पाते हैं लेकिन मोरहाबादी के इस स्टेडियम में उन्हें पहली प्राथमिकता दी गई है। जब खिलाड़ी अभ्यास करेंगे उस समय कोई बाहर के लोग अभ्यास नहीं करेंगे। खिलाड़ियों के अभ्यास के बाद जो समय मिलेगा उसमें बाहरी लोग अभ्यास कर सकते हैं। जल्द ही समय निर्धारित कर ली जाएगी।

अनुशासन तोड़ने वाले होंगे बाहर

शुल्क देने के बाद अनावश्यक भीड़ लगाकर बात करना या मजाक करना महंगा पड़ सकता है। स्टेडियम के अंदर पूरे अनुशासन के साथ निर्धारित समय तक अभ्यास करें। लोगों को वार्म अप शू या एथलेटिक्स स्पाइक के साथ आना अनिवार्य होगा। इसके बिना उन्हें ट्रेक पर अभ्यास करने नहीं दिया जाएगा। इसके बाद आम पोशाक पहन कर स्टेडियम में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। स्पो‌र्ट्समैन ड्रेस यानी ट्रैक शूट, हॉफ पैंट टी-शर्ट में आना अनिवार्य है। ड्रेस कोड का पालन नहीं करने वालों के लिए स्टेडियम में प्रवेश पर रोक रहेगी। आनलाइन आवेदन दे सकते हैं

स्टेडियम में मॉर्निग वाक या दौड़ने के इच्छुक लोग ऑनलाइन आवेदन कर अपना कार्ड झारखंड खेल प्राधिकरण से बना सकते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप