अमन मिश्रा, रांची : क्रिसमस इसाई धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है, जिसे पूरा देश धूमधाम से मनाता है। लोग क्रिसमस के आने का इंतजार महीनों पहले से ही शुरू कर देते है।

क्रिसमस आने में अभी करीब एक महीना बाकी है। क्रिसमस आने से एक महीने पहले से ही क्रिसमस को लेकर शहर भर में तैयारिया शुरू हो गई है।

शहर के छोटे बाजारों से लेकर बड़े मॉल तक में क्रिसमस का रंग दिखने लगा है। क्रिसमस ट्री और क्रिसमस से जुड़े सजावट के सामानों से बाजार सज चुका हैं। दुकानों में लोगों को विभिन्न प्रकार के गिफ्ट आइटम आकर्षित कर रहे हैं।

क्रिसमस इसाई धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। इस त्योहार को लेकर युवाओं में महीने भर पहले से ही उत्साह देखने को मिल रहा है। क्रिसमस पर एक-दूसरों को उपहार देने के लिए लोगों ने खरीदारीर करनी शुरू कर दी है।

तरह-तरह के सजावट के सामान बिक रहे बाजार में :क्रिसमस ट्री के साथ-साथ बाजारों में सैंटा क्लॉज, चाद, सितारे, सैंटा की जर्सी, टोपी व मास्क और जिंगल बेल सहित कई तरह के आइटम बाजार में बेचे जा रहे है। नये सजावटी सामान बाजार में किफायती कीमत में लोगों को जमकर लुभा रहे हैं।

लोगो को सजावट में परेशानी न हो इस बात को मद्देनजर रखते हुए इस बार क्रिसमस ट्री पर सितारों और घटियों के साथ लाइटों की भी सजावट की गई है।

बच्चों के लिए कार्टून वाली क्रिसमस ट्री बिक रही बाजार में :

इस साल क्रिसमस में बच्चों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग क्रिसमस ट्री बाजार में लाये गए है जो बच्चों को खूब लुभा रहे है।

बच्चों के लिए क्रिसमस ट्री पर कई तरह के कार्टून स्टीकर और सॉफ्ट टॉय भी लगाए गए हैं। बाजारों में क्रिसमस ट्री की कीमतें लंबाई और उनकी सजावट के आधार पर 300 रुपये से लेकर 20 हजार रुपये तक रखी गई हैं।

उपहार के तौर पर ग्रीटिंग कार्ड के साथ अन्य आकर्षक चीजें सस्ते दामों में उपलब्ध है।

म्यूजिकल आइटम्स की बढ़ रही मांग : न्य उपहारों के साथ-साथ लोगों ने म्यूजिकल आइट्म्स की डिमांड पर जोर दिया है। इस साल से बाजारों में म्यूजिकल गिफ्ट्स की माग भी बढ़ गई है।

बढ़ती मांग को देखते हुए म्यूजिकल क्रिसमस ट्री, सैंटा की प्रतिमा के साथ अन्य खिलौने और ग्रीटिंग कार्ड भी तैयार किए गए हैं। जिनमें जीजस से जुड़े गीत और क्रिसमस पर आधारित गानों की धुन रिकार्ड कर भरे शामिल किये गए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप