रांची, जेएनएन। महाशिवरात्रि पर गाजे-बाजे के साथ राजधानी रांची में भगवान शिव की बरात निकली है। क्‍या छोटे क्‍या बड़े पूरा माहौल शिवमय हो गया है। बाबा भोलेनाथ के दर्शन-पूजन के बाद यहां शिवबरात मे खुद को धन्य मानते हुए औघड़-भूत-प्रेत सब शामिल हैं। एक से एक मनमोहक झांकियों के साथ भक्‍तों का हुजूम उमड़ पड़ा है। भगवान भोलेनाथ के जयकारे से तमाम गलियां-चौराहा गुंजायमान हैं।

इससे पहले शिवालयों में सुबह से ही भक्‍तों की लंबी कतार लगी है। रांची के पहाड़ी मंदिर में भोजपुरी और हिन्‍दी फिल्‍मों के अभिनेता रवि किशन ने हर-हर-महादेव के जयकारे के साथ भगवान भोले शंकर की पूजा-अर्चना की। दरस-परस की मान्यता वाले भगवान शिवशंकर को निहारने के लिए सड़कों के दोनों तरफ महिलाएं भी बड़ी संख्‍या में मौजूद हैं।

बाबा के विवाहोत्सव पर भक्‍त बम बम
बाबा के विवाहोत्सव यानी महाशिवरात्रि पर शिवबरात दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का रेला उमड़ पड़ा है। रिकार्ड तोड़ भीड़ और भक्तों की लंबी कतार से पूरे माहौल में ओज प्रस्‍फुटित हो रहा है। इस उमड़े जनसैलाब को देखते हुए रांची जिला प्रशासन ने भक्त और भगवान के मिलन के लिहाज से सुरक्षा की बेहतर व्‍यवस्‍था की है।

सोमवार और शिवयोग का दुर्लभ संयोग
देवाधिदेव महादेव भगवान आशुतोष को प्रसन्न करने के लिए फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि मनाने की शास्त्रीय परंपरा है। इस बार महाशिवरात्रि देवाधिदेव महादेव के दिन सोमवार को पड़ी है तो रात में ही शिवयोग का दुर्लभ संयोग भी बन रहा है। फाल्‍गुन त्रयोदशी तिथि रविवार को दोपहर बाद 2.10 बजे लग गई माना जा रहा है इस कारण भी एक दिन पहले भक्तों का रेला देवघर में उमड़ पड़ा। त्रयोदशी तिथि चार मार्च को शाम 4.10 बजे तक रहेगी। उसके बाद चतुर्दशी तिथि लगेगी जो पांच मार्च की शाम 6.18 बजे तक रहेगी। देवघर दिन भर आस्‍थावानों से बम-बम रहेगी।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप