रांची, राज्य ब्यूरो। अरगोड़ा थाना क्षेत्र के अशोक नगर रोड नंबर एक स्थित साधना न्यूज चैनल के दफ्तर में दो व्यवसायी भाईयों की गोली मारकर हत्या के मामले में मास्टरमाइंड लोकेश चौधरी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। छह मार्च की शाम हेमंत अग्रवाल व उनके छोटे भाई महेंद्र अग्रवाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना की रात से ही मास्टरमाइंड लोकेश चौधरी फरार है, जिसके आवास की कुर्की-जब्ती के लिए पुलिस प्रयासरत है।

एक तरफ जहां पुलिस की नजर में लोकेश चौधरी फरार बताया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ लोकेश चौधरी ने रांची के सिविल कोर्ट में पहुंचकर अग्रिम जमानत याचिका फाइल कर दी। उसकी जमानत याचिका पर 12 अप्रैल को सुनवाई होनी है, जिसके लिए कोर्ट ने पुलिस से डायरी की मांग की है। लोकेश चौधरी हत्या की घटना के बाद से ही पुलिस को लगातार चकमा दे रहा है।

कभी नेपाल, कभी पटना तो कभी रांची में रहने की सूचनाएं मिल रही है, लेकिन गिरफ्तारी अब तक नहीं हो सकी है। अशोक नगर में दो सगे भाई हेमंत अग्रवाल व महेंद्र अग्रवाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अब तक इस हत्याकांड में लोकेश के अंगरक्षक सुनील सिंह, धर्मेंद्र तिवारी व चालक शंकर सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। वहीं अब भी लोकेश चौधरी व उसका सहयोगी एमके सिंह फरार हैं, जिनके आवास की कुर्की की तैयारी चल रही है।

अब तक की छानबीन में 25 लाख के लिए हत्या की बात आई है सामने
पुलिस की अब तक की छानबीन और रिमांड पर लिए गए अंगरक्षकों से पूछताछ के बाद हत्या का कारण 25 लाख रुपये हड़पने की नियत है। गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस को बताया कि दोनों अग्रवाल बंधु सूद पर रुपये लगाते हैं। वे 25 लाख रुपये लेकर लोकेश चौधरी के पास गए थे, जहां लोकेश चौधरी ने अपने सहयोगी एमके सिंह से फर्जी आइबी की रेड करवा दिया।

इसी बीच विवाद हो गया और दोनों भाइयों की गोली मारने के बाद सभी आरोपित फरार हो गए थे। इस घटना के बाद से अब तक पुलिस मृतकों की पत्नियों का बयान नहीं ले सकी है। पुलिस ने अब तक यह भी पता लगाने की कोशिश नहीं की कि आखिर इतनी मोटी रकम आई कहां से।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप