रांची, राज्य ब्यूरो। Traffic Jam in Ranchi लोकायुक्त जस्टिस डीएन उपाध्याय ने मंगलवार को रांची की यातायात व्यवस्था से संबंधित एक मामले में सुनवाई की। सुनवाई के दौरान रांची के एसपी यातायात अजित पीटर डुंगडुंग, सहायक नगर आयुक्त जेपी सिंह व जिला परिवहन पदाधिकारी (डीटीओ) संजीव कुमार मौजूद थे। लोकायुक्त ने डिवाइडर कट के पास सिग्नल लगाने व अवैध फूड वैन को जब्त करने सहित कई निर्देश जारी किए हैं। शहर में लग रहे जाम पर भी लोकायुक्त ने विशेष निर्देश दिया है और इस पर शीघ्र कार्रवाई को कहा है।

कायुक्त के सचिव संजय कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राजधानी रांची में जाम व अतिक्रमण संबंधित समस्या तथा इससे छुटकारा के मसले पर लोकायुक्त ने तीनों ही अधिकारियों को बुलाया था। यह भी बात सामने आई है कि करीब ढाई हजार ऑटो को ही राजधानी में चलाने की अनुमति है और उन्हें ही परमिट मिला है। इसके बावजूद रांची में 18 हजार से ज्यादा ऑटो चल रहे हैं, जो शहर में जाम की सबसे बड़ी समस्या बन रहे हैं। ऐसे अवैध व बिना परमिट वाले ऑटो के विरुद्ध अभियान चलाने की जरूरत है। 

बिना लाइसेंस व बिना रजिस्ट्रेशन की चल रही हैं अधिकतर फूड वैन

रांची में अधिकतर फूड वैन बिना लाइसेंस व बिना रजिस्ट्रेशन की चल रही हैं। लोकायुक्त के सवाल पर डीटीओ ने उन्हें यह जानकारी दी। इसके बाद लोकायुक्त ने ऐसे फूड वैन के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है।

लोकायुक्त कार्यालय में यह थी शिकायत

लोकायुक्त कार्यालय में 23 सितंबर 2019 को रांची के हिंदपीढ़ी निवासी मोहम्मद जावेद सलीम ने लिखित शिकायत की थी। उन्होंने बताया था कि रांची में पुरानी गाडिय़ों को फूड वैन के रूप में परिवर्तित किया गया है। ये गाडिय़ां सड़क किनारे लगाकर अपना कारोबार कर रही हैं। इससे प्रदूषण बढ़ रहा है। इसके विरुद्ध रांची नगर निगम व जिला परिवहन पदाधिकारी ने अब तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की है। ये वाहन 15 साल से अधिक पुराने हैं, जिनका पुन: निबंधन भी नहीं हुआ और उनका प्रदूषण प्रमाण पत्र भी नहीं है। छोटे ऑटो भी शहर को प्रदूषित कर रहे हैं।

लोकायुक्त ने ये दिए निर्देश

  1. रातू रोड चौक से मुक्तिधाम तक जब तक सिस्टमेटिक सिग्नल नहीं लग जाता है, तब तक डिवाइडर कट के पास एक सिग्नल लगाएं, जो लाल या पीला जलता रहे। इससे दुर्घटनाएं रुकेंगी और जाम से भी निजात मिलेगा।
  2. जेल चौक से लालपुर चौक तक सड़क के बीच में डिवाइडर बनाएं। पुराने जेल की चारदीवारी पीछे होने से सड़क चौड़ी हुई है, जिससे डिवाइडर बनाने से कोई दिक्कत नहीं होगी।
  3. न्यूक्लियस मॉल के पास एक छोटा गोलंबर बने, ताकि गाडिय़ों को घुमाने में आ रही समस्याओं से निजात मिल सके।
  4. सड़क की दोनो तरफ सड़क से थोड़ा ऊंचा फुटपाथ बने, इससे पैदल यात्रियों को आने-जाने में सहुलियत होगी।
  5. मिशन चौक के पास भी सिग्नल लाइट की आवश्यकता है, जिसे लगाकर वहां की यातायात व्यवस्था को दुरुस्त किया जा सकता है।
  6. सर्जना चौक से वूल हाउस तक सड़क से ऊंचा फुटपाथ बने, इससे पैदल यात्रियों को आने-जाने में सहुलियत होगी।
  7. चौक-चौराहों के पास 50 मीटर के दायरे में खड़ी गाडिय़ों को हटाएं या जब्त करें, ताकि वहां से गुजरने वालों को कोई परेशानी न हो।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस