ग्रामीणों ने अवैध बालू लदे दो ट्रैक्टर को जब्त कर पुलिस को सौँपा

फोटो-21- अवैध बालू लदे ट्रैक्टर को जब्त करते ग्रामीण

संवाद सूत्र, रंका (गढ़वा) : अवैध बालू उत्खनन रोके जाने को लेकर एनजीटी के सख्त निर्देश के बावजूद रंका थाना क्षेत्र के चुतरू गांव के रास्ते झारखंड छत्तीसगढ़ के मध्य बहने वाली कनहर नदी से बालू उठाव के मामले में चुत्तरू गांव के ग्रामीणों ने बालू लदा ट्रैक्टर पकड़ कर रंका पुलिस के हवाले किया है । ग्रामीणों द्वारा ट्रैक्टर पकड़े जाने की सूचना पर बालू ढुलाई में लगे अन्य दर्जन भर से अधिक ट्रैक्टर चालक दूसरे रास्ते से भागने में सफल रहे। वहीं रंका पुलिस ने ग्रामीणों द्वारा सुपुर्द किये गये बालू लदे दोनों ट्रैक्टरों को बरामद कर थाना लाया है। साथ ही ट्रैक्टर मालिक के विरूद्ध मामला दर्ज कर अग्रेतर कार्रवाई की जा रही है । बालू माफियाओं द्वारा अबैध रूप से बालू उत्खनन कार्य पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगाने को लेकर पिछले 27 मई को अनुमंडल पदाधिकारी रामनारायण सिंह द्वारा टास्क फोर्स गठित किया गया था। मगर वह सिर्फ दिखावा के लिए होकर रह गया है । इस दौरान कोई भी दिन ऐसा नही रहा । जिस दिन कनहर नदी से दो दर्जन से अधिक ट्रैक्टरों से बालू की तस्करी न हुई हो । बालू उत्खनन कार्य में लगे एक व्यक्ति ने बताया कि एक ट्रैक्टर एक माह तक बिना रोक टोक के कनहर नदी से बालू लाने के एवज में दलालों के माध्यम से तीस हजार रुपया अधिकारियों को दिया करते है। वर्तमान में डेढ़ दर्जन से अधिक ट्रैक्टर बालू उत्खनन व ढुलाई कार्य में लगे हुए हैं। इस तरह यहां बालू के माध्यम से अधिकारियों एवं बालू माफियाओं को लाखों का वारा न्यारा प्रति माह हो रहा है। वहीं एक ट्रैक्टर बालू सरकार प्रायोजित विकास कार्यो से लगे लाभुकों एवं आम जरूरतमंदों को सात से आठ हजार रुपए में उपलब्ध हो पाता है। ऐसे में सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि अवैध उत्खनन रोकने के पीछे किस तरह का खेल जारी है। बालू के खेल में अधिकारियों के इस रवैये से तंग आकर चुतरू गांव के ग्रामीणों ने बालू माफियाओं के बिरूद्ध सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है । मालूम हो कि चुत्तरू गांव के बंजारी टांड़ टोले में अभी भी अलग अलग जगहों पर सैकड़ों ट्रैक्टर बालू कनहर नदी के अलमा गोदाम घाट से ला कर रखा गया है । जहां से लगातार बालू की ढुलाई रात के अंधेरे में जारी है । शनिवार के अहले सुबह पकड़ा गया बालू लदा ट्रैक्टर हुरदाग गांव के अनिल गुप्ता का बताया जाता है । वहीं इस मामले में अंचलाधिकारी शंभू राम ने बताया कि उन्हें बालू उत्खनन की जानकारी नहीं है । जानकारी के बाद संबंधित ट्रैक्टर मालिक एवं चालक के बिरूद्ध कारवाई की जाएगी ।

Edited By: Jagran