रांची, जासं। अपनों का साथ छूट जाने का दर्द क्या होता है, यह बताने की जरूरत नहीं। कोरोना काल में इस पीड़ा को हम सबने करीब से महसूस किया। झारखंड में कोरोना से पांच हजार से अधिक लोगों की जान चली गई। संक्रमण की भयावहता में कई ऐसे भी क्षण आए, जब हम अंतिम समय में भी अपने लोगों के पास नहीं जा पाए। उन्हें कांधा नहीं दे पाए। बहुत कोशिशों के बाद भी अपनों को बचा नहीं पाने की टीस और पीड़ा हमें गहरे जख्म दे गई।

दैनिक जागरण ने इस पीड़ा को शिद्दत से महसूस किया है। आज भी कोरोना से हम सबकी जंग जारी है। विपदा की इस घड़ी में दैनिक जागरण परिवार ने सर्वधर्म प्रार्थना की पहल की है। इससे उन परिवारों को संबल मिलेगा, जो अपनों को खो चुके हैं और संक्रमण से जंग लड़ने के साथ ही हम सबको बचाने में लगे हुए हैं। साथ ही उन लोगों की आत्मा को शांति मिलेगी जो अब हमारे बीच नहीं रहे।  

प्रार्थना में बनें भागीदार

14 जून को 11 बजे हम सब मिलकर सर्व धर्म प्रार्थना सभा में भागीदार बनेंगे। इस आयोजन में मंत्री, सांसद, विधायक, पार्षद, मुखिया, डाॅक्टर, अधिवक्ता, शिक्षक, व्यापारी, सामाजिक संगठन, धार्मिक संगठन व अन्य संगठनों से अपील है कि इस पुण्य कार्य में भाग लेकर कोरोना पीड़‍ितों और योद्धाओं के लिए कामना करें। इसके साथ ही मौन रखकर उन लोगों को नमन करें जिन्हें इस महामारी ने छीन लिया है।

हम यह करेंगे

14 जून पूर्वाह्न 11 बजे जो जहां रहेंगे, वहीं रुककर दो मिनट का मौन रखकर अपने उन स्वजनों, परिचितों, रिश्तेदारों को श्रद्धांजलि देंगे, जिन्हें कोरोना ने हमसे छीन लिया। दिवंगत लोगों के आत्मा की शांति के लिए आप यदि सड़क पर हैं तो सड़क पर, कार्यालय में हैं तो कार्यालय में, कारखाने या दफ्तर में हैं तो वहींं और दुकान में हैं तो दुकान में तथा घर में हैं तो घर में ही निर्धारित समय पर मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित करें।

जागरण के इस अभियान से जुड़ने के लिए आप वाट्सएप नंबर 9102994235 पर मैसेज कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमें ranchi@rch.jagran.com या jcity@rch.jagran.com पर मेल भी कर सकते हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप