रांची/चतरा, जेएनएन। झारखंड के चतरा जिले में पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त छापेमारी दल ने नक्सलियों की एक बड़ी साजिश को विफल कर दिया है। नक्‍सलियों ने विधानसभा चुनाव में सुरक्षा बलों को व्यापक क्षति पहुंचाने के लिए लैंड माइंस और विस्फोटक छुपा कर रखा था। पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर को मिली गुप्त सूचना के आधार पर गुरुवार को जिले के राजपुर थाना क्षेत्र बनियाबांध मुख्य सड़क के किनारे लैंड माइंस को रखा गया था।

वहीं जनदीक में भी देशी बंदूक की गोली बनाने में प्रयुक्त होने वाले विस्फोटक को छ़ुपा कर रखा हुआ था। सूचना के बाद एसपी ने जिला बल और सीआरपीएफ की एक संयुक्त छापेमारी टीम का गठन किया। इसका नेतृत्व अपर पुलिस अधीक्षक अभियान निगम प्रसाद कर रहे थे। अभियान में सीआरपीएफ 190वीं बटालियन के लिए सहायक समादेष्‍टा कुलदीप कुमार और सैट फाइब के जवान शामिल थे।

बरामद लैंड माइंस का वजन करीब 20 किलो है। पुलिस अधीक्षक वारियर ने बताया कि बरामद लैंड माइंस को जंगल में ही डिफ्यूज कर दिया गया। उन्होंने बताया कि इसके लिए हजारीबाग से एक विशेष टीम बुलाई गई थी। बताते चलें कि चतरा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव 30 नवंबर को होना है। चुनाव को देखते हुए भाकपा माओवादी उग्रवादियों की सक्रियता बढ़ गई है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस