रांची, राज्य ब्यूरो। हाई कोर्ट ने शुक्रवार को चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद की औपबंधिक जमानत की अवधि तीन जुलाई तक बढ़ा दी है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएन पटेल की कोर्ट ने लालू की ओर से इलाज के लिए औपबंधिक जमानत की अवधि बढ़ाने की मांग को स्वीकार कर लिया। इस मामले में अगली सुनवाई 29 जून को होगी।

दरअसल चारा घोटाले से संबंधित मामलों की सुनवाई करने वाली बेंच नहीं होने के कारण लालू की ओर से कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश की कोर्ट में विशेष सुनवाई के लिए मेंशन किया गया। कोर्ट ने लालू प्रसाद के सुनवाई के आग्रह को स्वीकर करते हुए मामले में सुनवाई की। लालू की ओर से कोर्ट को बताया गया कि उनका ईलाज मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट हॉस्पिटल में कराया जा रहा है। पिछले दिनों फिश्चुला ऑपरेशन के लिए इस अस्पताल में भर्ती हुए, लेकिन शुगर बढ़ने के कारण उनका ऑपरेशन टाल दिया है। शुगर सामान्य करने की दवा देकर दोबारा अस्पताल आने को कहा गया।

लालू प्रसाद एक सप्ताह पहले मुंबई स्थित अस्पताल पहुंच गए हैं। जहां उनके मेडिकल जांच की गई है। सब कुछ सामान्य रहा तो शनिवार या रविवार को ऑपरेशन किए जाने की संभावना है। इसलिए लालू के अधिवक्ता ने औपबंधिक जमानत की अवधि बढ़ाने के लिए कोर्ट से आग्रह किया। जिसे कोर्ट ने स्वीकर करते हुए तीन जुलाई तक तिथि बढ़ा दी। लालू की ओर से आइए (हस्तक्षेप याचिका) दाखिल कर छह सप्ताह के लिए औपबंधिक जमानत की अवधि बढ़ाने का आग्रह किया गया है। बता दें कि झारखंड हाई कोर्ट ने 11 मई को ईलाज के लिए लालू प्रसाद को चारा घोटाले के तीन मामलों में औपबंधिक जमानत दी है।

जगन्नाथ मिश्र की भी जमानत अवधि बढ़ी

चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता डॉ. जगन्नाथ मिश्र की ओर से भी कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीए पटेल की कोर्ट में विशेष सुनवाई के लिए मेंशन किया गया। कोर्ट ने उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए तीन जुलाई तक औपबंधिक जमानत की अवधि बढ़ा दी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस