कोडरमा, जासं। कोडरमा जिले में कोरोना संक्रमण ने विकराल रूप धारण कर लिया है। पिछले 24 घंटे में आई रिपोर्ट में रिकॉर्ड तोड़ 469 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से मौत के मामले भी रोज सामने आ रहे हैं। गुरुवार को दो लोगों की मौत हुई है। जिले में पिछले 24 घंटे में ट्रूनेट जांच में 161, एंटीजन जांच में 308 लोगों की पाॅजिटिव रिपोर्ट आई है। कोरोनाकाल की दूसरी लहर में 2,177 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। वहीं जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 52 हो गई है।

सिविल सर्जन डॉ. एबी प्रसाद ने बताया कि कोविड केयर सेंटर में 94 संक्रमित भर्ती हैं। इनमें से नौ लोग आइसीयू में हैं और 20 संक्रमितों को ऑक्सीजन कंसेंडरेटर पर रखा गया है। डॉ. शरद कुमार ने बताया कि जिले में कोरोना की रफ्तार बहुत तेजी से बढ़ रही है। उन्होंने अपील की कि सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ होने पर कोविड जांच के साथ सीटी स्कैन अवश्य कराएं।

सदर अस्पताल में 50 ऑक्सीजन युक्त डीसीएचसी बनकर तैयार

सदर अस्पताल कोडरमा में 50 ऑक्सीजन युक्त बेड का डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) बनाकर तैयार किया गया है। उपायुक्त रमेश घोलप, उप विकास आयुक्त आर रॉनिटा व अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार ने डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में वहां की सुविधाओं का जायजा लिय। वहीं सीएस को चिकित्सकों व नर्सों के साथ-साथ कर्मियों को तैनात करने को कहा। उपायुक्त ने बताया कि सदर अस्पताल में बनाए गए डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में 50 बेड की सुविधा के साथ-साथ तीन वेंटिलेटर की भी व्यवस्था की गई है। 50 ऑक्सीजन युक्त बेड में तीन वेंटिलेटर, दो बेड ऑक्सीजन कंस्टे्रट, 10 जंबो सिलेंडर और 35 बी टाइप वाले सिलेंडर वाले बेड की सुविधा की गई है। जिले में सरकारी और निजी अस्पतालों में मिलाकर लगभग 200 ऑक्सीजन युक्त बेड हो गए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप