रांची, राज्य ब्यूरो। सोमवार को विधानसभा सभागार में झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने जैसे ही कार्यकर्ताओं को संबोधित करना शुरू किया, इसी बीच बिजली गुल हो गई। मरांडी ने तब बिना देर किए चुटकी ली और वर्तमान सरकार पर प्रहार कर डाला। उन्होंने कहा कि 2018 तक 24 घंटे बिजली नहीं देने पर वोट नहीं मांगने का दावा करने वाली सरकार का ये हाल है। बिजली लगभग 15 मिनट तक गुल रही। इस बीच कार्यकर्ताओं ने अपने मोबाइल की लाइट से सभागार को रोशन रखा।

मरांडी झाविमो के सोशल मीडिया से जुड़े कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मरांडी ने प्रचार-प्रसार के मामले में सोशल मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका बताई। उन्होंने इससे जुड़े कार्यकर्ताओं को झाविमो के 13 वर्र्षों के इतिहास से एक-एक राज्य के एक-एक व्यक्ति को अवगत कराने का टास्क सौंपा।

साथ ही पार्टी की नीति और नेतृत्व को केंद्र में रखकर पार्टी की भावी रणनीति को प्रचारित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि झाविमो का 14वां साल शुरू हो चुका है। यानी वनवास समाप्त होने को है। जो लोग झाविमो को राजनीति के पन्ने में सिमटा हुआ मान रहे थे, जनादेश समागम ने उनके मुंह पर ताला जडऩे का काम किया है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस