रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड में झाविमो को नए सिरे से पुनर्गठित करने की कोशिश में जुटे पार्टी प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने 15 दिनों में ढाई लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। रविवार को मीडिया से मुखातिब बाबूलाल ने कहा कि सदस्यता अभियान की शुरुआत जमशेदपुर से 18 जुलाई को होगी। 19 को बोकारो, 20 को धनबाद तथा 21 जुलाई को गिरिडीह में इसका आयोजन होगा।

उन्होंने इस दौरान जनता के नाम एक पत्र भी जारी किया, जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई, खेल, बिजली, विस्थापन आदि से जुड़े मसलों के समाधान पर पार्टी का नजरिया अंकित है। मरांडी ने इस दौरान मौजूदा सरकार को हर मोर्चे पर फेल करार दिया। कहा कि भ्रष्टाचार से मुक्ति की बात करने वाली सरकार में राशन कार्ड बनाने के नाम पर तीन-तीन हजार रुपये घूस देने पड़े रहे हैं। झारखंड के खनिज स्वामित्व भारत सरकार के पास है, जिससे रैयतों का दोहन हो रहा है।

कौड़ी के मोल रैयतों से जमीन लेकर एचईसी और पशुपालन विभाग उसे बेच रहा है। अनुपयोगी जमीन रैयतों को लौटाने के बजाय सरकार उसको वारा-न्यारा करने पर तुली है। विधानसभा चुनाव में सीट शेयरिंग के मसलों को वे टालते नजर आए। इतना जरूर कहा, महागठबंधन राज्य के सभी 81 सीटों पर उम्मीदवार देगा। 15 अगस्त के बाद इसका स्वरूप सामने आएगा। प्रदीप यादव के मसले पर उन्होंने चुप्पी साध ली। इतना जरूर कहा, वे अभी भी पार्टी में हैं। संगठन से लगातार कार्यकर्ताओं के पलायन पर उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों में आना-जाना सामान्य प्रक्रिया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप