राज्य ब्यूरो , रांची। तोपचांची के तत्कालीन थानेदार स्व. उमेश कच्छप के आश्रित को अनुकंपा के आधार पर अगले एक-दो दिनों में नियुक्ति पत्र दे दिया जाएगा। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कच्छप की मौत के बाद आश्रित को नौकरी देने की घोषणा की थी। शनिवार को उन्होंने इस विवादित मामले पर मुख्य सचिव राजबाला वर्मा, डीजीपी डीके पांडेय और महाधिवक्ता विनोद पोद्दार के साथ अपने आवास में उच्चस्तरीय समीक्षा की। कच्छप का शव 17 जून को उनके सरकारी आवास में छत से लटकता पाया गया था। पुलिस इसको आत्महत्या बता रही थी, जबकि परिजन ने हत्या की आशंका व्यक्तकी है।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कच्छप के आश्रित को अनुकंपा के आधार पर जल्द से जल्द नियुक्ति पत्र सौंपने को कहा है। मुआवजा राशि के भुगतान की प्रक्रिया भी तेज करने का निर्देश दिया है। बैठक में तोपचांची मामले को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। इस मामले पर पेश रिपोर्ट की विवेचना मुख्यमंत्री के सामने जल्द रखी जाएगी। जिसके बाद कुछ पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई भी की जाएगी। कच्छप के परिजनों द्वारा उनकी हत्या की आशंका व्यक्त करने पर एडीजी सीआइडी और कैबिनेट सचिव से मामले की जांच करवाई गई थी।

पेट्रोल पंप देने की अनुशंसा :

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केंद्र सरकार से स्व. उमेश कच्छप के परिजन को पेट्रोल पंप आवंटित करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय पेट्रोलियम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)धर्मेंद्र प्रधान से फोन पर इस संबंध में बात की। पेट्रोल पंप का आवंटन शहीद जवानों के परिजनों को किया जाता है, लेकिन मुख्यमंत्री ने धर्मेंद्र प्रधान से नियम में छूट देने का अनुरोध किया है। राज्य सरकार की तरफ से जल्द ही केंद्र सरकार को अनुशंसा पत्र भेज दिया जाएगा।

Posted By: Bhupendra Singh