बेड़ो, जागरण संवादाता। Jharkhand News : बेड़ो (Bedo) प्रखंड क्षेत्र के गांवों में नहीं थम रहा हाथियों (Elephants) का उत्पात सब्जी की फसलों (Vegetable Crops) को खाकर व रौंदकर कर उत्पात मचा रहा है। जहां पिछले दो सप्ताह से तीन हाथियों के तांडव बदस्तूर जारी है। जिसके चलते ग्रामीणों (Villagers) में दहशत का माहौल व्याप्त है।

किसानों के लिए बना हुआ मुसीबत

शाम होते ही लोग अपने घरों में दुबक जा रहे हैं। प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों गांव के ग्रामीण रतजगा करने को विवश हैं। हाथियों का उत्पात किसानों के लिए मुसीबत बना हुआ है। वहीं सांसद व विधायक कुम्भकर्णी निद्रा में सोए हुए है और जिम्म्मेदार अधिकारी केवल बयानबाजी कर रहे हैं।

वन विभाग साधे रहता है चुप्पी

आए दिन हाथियों का झुंड किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। ग्रामीण रतजगा कर फसलों की सुरक्षा में लगे हुए हैं। पंकज कुजुर, प्रमोद लोहरा ने बताया कि हाथियों का उत्पात आए दिन जारी रहता है। बावजूद इसके वन विभाग चुप्पी साधे रहता है।

आलु व मटर के फसल को खाकर व रौंदकर कर दिया बर्बाद

उन्होंने बताया कि जंगल में डेरा जमाए हाथीयो द्वारा आये दिन घर को ध्वस्त कर फसल चट कर रहे हैं और खेतों में लगी सब्जियों के फसल को रौंदकर बर्बाद कर रहा है। वहीं शुक्रवार की रात भी हुलसी गांव में जमकर उत्पात मचाया।

हाथी लगभग तीन बजे सुबह जरिया पंचायत के हुलसी गांव पहुंचा और गांव के ग्राम प्रधान रिझिकन टोप्पो,प्रमोद लोहरा और धानु लोहरा के फ्रेंचबीन आलु व मटर के फसल को खाकर व रौंदकर बर्बाद कर दिया।

प्रशासन से मुआवजे की लगाई है गुहार

वहीं ग्रामीणों ने प्रखंड प्रशासन से मुआवजे की गुहार लगाई है। इधर घटना की सूचना पाने के बाद पंचायत के मुखिया उर्मिला देवी ने गाव पहुंचकर लोगों के हुए नुकसान का जायजा लिया और वन विभाग को जानकारी दी। उन्होंने हाथी प्रभावित लोगों को वन विभाग से नुकसान का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया।

Edited By: Sanjay Kumar