रांची, जागरण संवाददाता। Jharkhand Weather Update : झारखंड की राजधानी रांची में करीब एक सप्ताह के बाद मौसम साफ हुआ और धूप खीली। लेकिन सुनहरी धूप के बीच ठंडी हवाओं ने कनकनी बढ़ा दी। शाम के बाद भी पारा दो डिग्री तक नीचे गिरा। अभी अगले तीन दिनों तक कोल्ड वेव का असर देखने को मिलेगा। इस कोल्ड वेव से बचने की हिदायत मौसम विज्ञानियों ने दी है।

अगले तीन दिनों तक हमें ठंड का असर देखने को मिलेगा। खासकर राजधानी रांची में न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट देखने को मिल रहा है।

इन इलाकों मे देखने को मिलेगा कोल्ड वेव का असर

उत्तरी व मध्य हिस्साें यानी रांची, बोकारो, गुमला, हजारीबाग, खूंटी, रामगढ़, धनबाद, दुमका, गिरिडीह, जामताड़ा पाकुड़ व साहेबगंज में कोल्ड वेव का असर सामान्य से कम देखने को मिलेगा जबकि दक्षिणी हिस्से यानी पलामू, गढ़वा, चतरा, कोडरमा, लातेहार और लोहरदगा में कोल्ड वेव का असर देखने को मिलेगा। अगले 2-3 दिनों तक तापमान में भी गिरावट के संकेत दिए गए हैं।

एक फरवरी से न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी के संकेत

अगले तीन दिनों तक राजधानी रांची समेत सभी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा। आसमान साफ रहेंगे लेकिन न्यूनतम तापमान में गिरावट का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग की माने तो एक फरवरी से न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी के संकेत हैं। ठंड से राहत मिलेगी।

पिछले 24 घंटे में राज्य में एक दो स्थानों पर हल्की व मध्यम दर्जे की बारिश रिकार्ड की गई है। सबसे अधिक बारिश जमशेदपुर में 0.5 मिमी रिकार्ड की गई है। राज्य में शीत लहर की भी स्थिति बनी रही। सबसे अधिक तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस चाईबासा का जबकि सबसे कम तापमान 07.4 डिग्री सेल्सियस रांची का रिकार्ड किया गया है।

फरवरी से न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी का पूर्वानुमान है और ठंड से राहत मिलेगी : मौसम विभाग

रांची मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक-सी एवं प्रभारी अभिषेक आनंद ने कहा कि अगले 2-3 दिनों तक झारखंड में कोल्ड वेव का असर रहेगा। उत्तरी व मध्य हिस्सों में सामान्य से कम जबकि दक्षिणी हिस्सों में कोल्ड का वेव का असर देखने को मिलेगा। दो तीन दिनों तक तापमान में भी गिरावट के संकेत हैं। राजधानी रांची समेत सभी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा। आसमान साफ रहेंगे लेकिन न्यूनतम तापमान में गिरावट का पूर्वानुमान है। एक फरवरी से न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी का पूर्वानुमान है और ठंड से राहत मिलेगी।

Edited By: Sanjay Kumar