रांची, जेएनएन। प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो के पार्टी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लेने के बाद जदयू को एक और झटका लगा है। पिछले दो दशकों से जदयू में सक्रिय भूमिका निभाने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रदेश महासचिव बटेश्वर प्रसाद मेहता ने मंगलवार को पार्टी छोडऩे की घोषणा कर दी।

बटेश्वर मेहता ने केंद्रीय नेतृत्व को अपना इस्तीफा भी भेज दिया है। उन्होंने राज्य में पार्टी संगठन को लेकर अस्पष्ट नीति पर भी सवाल खड़ा किया है। अपने आवास पर अपने समर्थकों की उपस्थिति में उन्होंने पार्टी छोडऩे की जानकारी मीडिया को दी। उन्होंने किसी क्षेत्रीय दल के लिए काम करने की बात कही।

इससे पूर्व झारखंड प्रदेश जदयू के अध्यक्ष जलेश्वर महतो ने पार्टी का दामन छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था। नई दिल्ली में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने क बाद उन्हें धनबाद जिले के बाघमारा विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव में टिकट का आश्वासन मिला है।

झारखंड के पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो ने बाघमारा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा विधायक ढुलू महतो के खिलाफ आंदोलन छेड़ रखा था। साथ ही आने वाले दिनों में महतो बाघमारा सीट भाजपा के खाते में जाने की प्रबंल संभावना से अपने भविष्य को लेकर चिंतित थे। चूंकि, भाजपा और जदयू में गठबंधन है। बाघमारा से भाजपा के ढुलू महतो सीटिंग विधायक हैं। ऐसे में भाजपा जलेश्वर के लिए बाघमारा सीट छोड़ नहीं सकती। ढुलू ने 2009 के विधानसभा चुनाव में जलेश्वर को परास्त कर विधायक बने थे।

Posted By: Sujeet Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस