रांची, जेएनएन। झारखंड के कुछ लोग दिल्ली में लॉकडाउन के कारण फंस गए हैं। उन्हें भोजन तक नसीब नहीं हो रहा है। इस बाबत एक ट्वीटर यूजर ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मदद मांगी। इसके बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री से इनकी मदद के लिए अनुरोध किया। उसके बाद दिल्ली में फंसे झारखंड के लोगों के लिए भोजन का प्रबंध हो गया। इसके लिए सीएम हेमंत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद कहा है। केजरीवाल ने जानकारी दी कि जिलाधिकारी को निर्देश दे दिया गया है। झारखंड से आए हुए हमारे इन भाइयों को दो वक्त का खाना मिले। दिल्ली में हम कोशिश कर रहे हैं कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे।

एक रूम में रह रहे कई लोग, खाने की व्यवस्था नहीं

मुख्यमंत्री को एक वीडियो साझा कर बताया गया कि झारखंड के कुछ लोग, जो वहां मजदूरी करते हैं, लॉकडाउन की वजह से फंस गए हैं। खाने की व्यवस्था नहीं होने से भूख से मरने की नौबत आ गई है। मामले की जानकारी के बाद मुख्यमंत्री ने अरविंद केजरीवाल से इन्हें मदद पहुंचाने का अनुरोध किया था। साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंड से बाहर रह रहे लोगों से कहा है कि जरूरत पडऩे पर 0651-2282201 पर संपर्क करें। कंट्रोल रूम के माध्यम से हर जरूरतमंदों को उचित मदद पहुंचाया जाएगा।

तेलंगाना के 26 बच्चे झारखंड में सुरक्षित

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाते हुए कहा है कि तेलंगाना के सभी 26 बच्चे साहेबगंज में सुरक्षित हैं। राज्य सरकार ने स्कूल प्रबंधन को बच्चों का पूरा ध्यान रखने का निर्देश दिया है। साहेबगंज के उपायुक्त को भी बच्चों की सुरक्षा, स्वास्थ्य को ध्यान में रख आगे की कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

तेलंगाना से प्रवास में आए थे बच्चे

मुख्यमंत्री को बताया गया कि नवोदय विद्यालय चोपडण्डी, करीमनगर तेलंगाना के 26 बच्चे साहेबगंज स्थित नवोदय विद्यालय में शैक्षणिक प्रवास के लिए आए थे। लेकिन लॉकडाउन की स्थिति में तेलंगाना नहीं लौट सके। इस संदर्भ में तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने हेमंत सोरेन से बच्चों की देखभाल हेतु निवेदन किया था।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस