रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand News रेमडेसिविर की कालाबाजारी का आरोपित राजीव सिंह अपराध अनुसंधान विभाग (सीआइडी) के रिमांड पर है। सीआइडी की अनुसंधान टीम को अदालत ने दो दिनों तक पूछताछ के लिए समय दिया है। शनिवार को राजीव सिंह फिर वापस जेल भेजा जाएगा। रिमांड पर राजीव सिंह से रेमडेसिविर इंजेक्शन के स्रोत को लेकर सीआइडी के एडीजी अनिल पाल्टा सहित कई सीनियर अधिकारियों ने शुक्रवार को दिनभर पूछताछ की।

पूछताछ के वक्त अधिकारी राजीव सिंह के मोबाइल का कॉल डिटेल्स रिकार्ड (सीडीआर) और वाट्सएप चैट को भी सामने रखे थे। सीडीआर के सभी संदिग्ध नंबरों के बारे में राजीव सिंह से जानकारी ली गई है, ताकि इस कालाबाजारी की तह तक जाया जा सके। सूचना है कि अब तक सीआइडी को कोई ठोस सफलता हाथ नहीं लगी है।

सीआइडी अनुसंधान पर है हाई कोर्ट की नजर

सीआइडी के अनुसंधान पर हाई कोर्ट की भी नजर है। एक दिन पूर्व ही सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट की दो सदस्यीय खंडपीठ ने सीआइडी के अनुसंधान पर सवाल उठाते हुए यह टिप्पणी की थी कि सीआइडी का अनुसंधान संतोषजनक नहीं है। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी बिना सरकारी कर्मियों की मिलीभगत के संभव नहीं है।

सीआइडी के अनुसंधान में अब तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है। हाई कोर्ट ने सीआइडी से अनुसंधान की अद्यतन रिपोर्ट के साथ-साथ जांच के तरीकों की भी जानकारी मांगी है। हाई कोर्ट की तल्ख टिप्पणी के बाद सीआइडी के अधिकारी जांच व पूछताछ संबंधित कोई भी जानकारी देने से परहेज कर रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप