रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Coronavirus हाल ही में हुई सर्वदलीय बैठक में राज्य सरकार को हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाने वाले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के तेवर अब तल्ख हो गए हैं। उन्होंने कोरोना संक्रमण के बढ़ते दायरे के लिए राज्य सरकार को दोषी ठहराया है। कहा, राज्य सरकार की कुव्यवस्था के कारण कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इस राज्य का सिस्टम मरा हुआ है इसलिए लोग मर रहे हैं। पूरा राज्य भगवान भरोसे चल रहा है।

इस विपरीत परिस्थिति में वे राजनीति से दूर रहना चाहते हैं किंतु राज्य सरकार ने हालात बिगाड़ रखे हैं। सदर अस्पताल और रिम्स में व्याप्त अव्यवस्था का हवाला देते हुए कहा कि वहां दवाई, ऑक्सीजन के अभाव में कराहते हुए लोगों को हमने देखा है। मरीजों को बेड, चिकित्सा सलाह का अभाव और भूख से बिलखते हुए देखा है। कुछ मरीजों को बेड तो मिला है किंतु चिंता करने वाला कोई नहीं है। सरकार स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह मना रही है और शराब की दुकानों को खोलकर रखा गया है।

उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस की कमी को शीघ्र पूरा करे। शव ढोने के लिए अलग से गाड़ी की व्यवस्था करें। पूरे देश में संक्रमितों की संख्या औसत 1.08 फीसदी है तो झारखंड में इसकी दर 2.10 फीसदी है। झामुमो-कांग्रेस की सरकार विकास में फिसड्डी है और कोरोना संक्रमण में पूरे देश में अव्वल है। देश में रिकवरी रेट 86 फीसदी है जबकि झारखंड में 80 फीसदी है। राज्य में जीवन रक्षक दवाइयों की भारी कमी है। लोगों को मृत शरीर प्राप्त करने के लिए, शवों को जलाने के लिए, लकड़ी की व्यवस्था के लिए भी पैरवी लगानी पड़ रही है।

सिस्टम को फेल करने में भाजपा का योगदान : झामुमो

राज्य में कोरोना संक्रमण को लेकर ढिलाई बरतने संबंधी भाजपा के आरोपों पर सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा ने पलटवार किया है। महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जिस सिस्टम को फेल होने की दुहाई दे रहे हैं। उसमें भाजपा का सबसे बड़ा योगदान है। वे सर्वदलीय बैठक में राज्य सरकार को सहयोग करने का दावा कर रहे थे, लेकिन दिल्ली से ऐसा कौन सा मैसेज आ गया कि अब सरकार गिराने की बातें कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी का फ्रस्टेशन मंगलवार को ही सामने आ गया था, जब पीएम नरेंद्र मोदी अपनी बात देश के सामने कहने आए।

झामुमो ने उठाया सवाल, दीपक प्रकाश अब कर रहे सरकार गिराने की बात

भारत सरकार ने पूरी तरह से अपने हर फैसले पर प्रायश्चित के लिए राज्यों को छोड़ दिया। सेल का ऑक्सीजन बाहर जा रहा है, पर हमारे यहां सिलेंडर की कमी है, जिसके कारण समय पर ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रहा है। ऑक्सीजन के लिए सरकार ने टास्क फोर्स भी बनाया है। सरकार जरूरी दवा भी खरीद रही है। राज्य सरकार के अधिकारी लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में हैं और मुख्यमंत्री का प्रयास भी दिख रहा है। केंद्र सरकार को जो काम छह महीने पहले करना चाहिए था, अब मजबूर होकर कर रही है। विपक्ष की सलाह पहले माननी चाहिए थी।

शुरू से विपक्ष का सुझाव बीजेपी मानती तो देश में ऐसे हालत नहीं होते। लाशों को सही में एम्बुलेंस से ले जाया जा रहा है। राज्य में कहीं भी शवों को ले जाने वाला वैन नहीं है और यह समस्या डेढ़ साल का नहीं है। प्राइवेट एम्बुलेंस पर किसी का वश नहीं है। राज्य सरकार ने तो प्राइवेट एम्बुलेंस का भी भाड़ा तय कर दिया है। ऐसे भी लोग हैं जो अपने स्तर पर एम्बुलेंस सेवा दे रहे हैं और जिस सिस्टम के फेल होने की बात दीपक प्रकाश कर रहे हैं उसमें उनकी पार्टी भाजपा का बड़ा योगदान रहा है। वैक्सीन के नाम पर भ्रष्टाचार का नया ड्रामा केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा है।

भाजपा नेताओं से कांग्रेस ने पूछा सवाल

विगत कई दिनों से राज्य में लॉकडाउन का आदेश जारी करने की मांग कर रहे भाजपा नेताओं से कांग्रेस ने सवाल पूछा है। प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे और लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी दो दिन पहले तक संपूर्ण लॉकडाउन की मांग कर रहे थे। उन्हें अब बताना चाहिए कि अब भाजपा का स्टैंड क्या होगा, जब स्वयं प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन को आखिरी विकल्प करार दिया है।

कांग्रेस ने आरंभ किया हेल्पलाइन नंबर

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कोरोना संक्रमित मरीजों और उनके परिजनों को मेडिकल सहायता उपलब्ध कराने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। प्रदेश कांग्रेस स्वास्थ्य विभाग के चेयरमैन डा. पी. नैय्यर के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम ने हेल्पलाइन नंबर 9798563777 और 7667357882 के माध्यम से लोगों की व्यथा सुनी और उन्हें आवश्यक परामर्श दिया।