रांची, जांस। झारखंड हाई कोर्ट में डोरंडा बच्ची के साथ दुष्कर्म व हत्या मामले में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट ने राज्य में महिला हेल्पलाइन नहीं होने पर नाराजगी जताई। कोर्ट ने कहा कि मोबाइल हेल्पलाइन कैसे याद होगा। अदालत ने कहा कि अगली सुनवाई में मुख्य सचिव, महिला एवं बाल विकास के सचिव और आइजी सीआईडी हाजिर हो।

बता दें कि 2013 में डोरंडा में एक बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। इस मामले में हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेकर मामले की सुनवाई आरंभ की थी। सुनवाई के दौरान सरकार की ओर बताया गया कि 11 संदिग्धों में से दो की नारको टेस्ट करने की प्रक्रिया चल रही है। इतना सुनते ही अदालत ने कहा कि छह साल बाद भी घटना की जांच जारी रहने की बात कहना दुखद है। अभी तक इस मामले में चार्जशीट दाखिल नहीं होना भी शर्मनाक है।

 

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस