रांची,जागरण संवाददाता। Jharkhand Coronavirus Alert : हर जगह कोरोना (Corona) ने दस्‍तक दे दिया है। कोई भी क्षेत्र नहीं बचा है, जहां कोरोना ने दस्‍तक नहीं दे दी हो। झारखंड (Jharkhand) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) मरीजों की संख्या का आंकड़ा 25 हजार के पार पहुंच गया है। ऐसे में अपनी सेहत (Health) का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। खासकर,  उनलोगों को जो कोरोना से संक्रमित है और सर्जरी (Surgery) कराना चाहते है। उनलोगों के लिए अपना खान-पान पर विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है।

कोरोना संक्रमित का सर्जरी होने पर विशेष चर्चा

रिम्स में सोमवार को कोरोना अपडेट को लेकर सेमिनार का आयोजन हुआ। इसमें विशेष रूप से उन लोगों पर चर्चा हुई जो कोरोना संक्रमित हो और उनका सर्जरी होना हो। डॉक्टरों ने इसपर चर्चा किया कि संक्रमित मरीज को सर्जरी से पहले और सर्जरी के बाद किस प्रकार दवा दें।

कैसा सुधार हो रहा है इसकी ली गई जानकारी

इसके अलावा रिम्स में जितने भी कोरोना से संक्रमित मरीज भर्ती हैं, उनकी स्थिती पर विचार किया गया। उन्हें किस प्रकार की दवा दी जा रही है और कैसा सुधार हो रहा है इसकी जानकारी ली गई। रिम्स में कोरोना मरीज के बढ़ने पर अस्पताल की क्या तैयारी है इसपर चर्चा हुई।

एक एक कर के अपडेट रिपोर्ट देखा

डॉ प्रदीप भट्टाचार्य ने बताया कि अभी किस प्रकार का वायरस लोगों को संक्रमित कर रहा है इसपर फोकस किया गया। जितने मरीज भर्ती हैं सभी का एक एक कर के अपडेट रिपोर्ट देखा गया। रिम्स के डॉक्टरों को बताया गया कि लोगों के संक्रमित होने के बाद उन्हें कौन कौन से दवा दें और कौन कौन से जांच करें, ताकि शरीर से पूरी तरह से वायरस खत्म हो सके।

क्यों जांच की गई इसका पूरा लिया डिटेल

डायरेक्टर ने हर विभाग के इंचार्ज से ली जानकारीरिम्स के डायरेक्टर कामेश्वर प्रसाद ने रिम्स के सभी विभाग के इंचार्ज से कोरोना पर अपडेट लिया। जांच में मरीजों की क्या जांच की गई और क्यों जांच की गई इसका पूरा डिटेल लिया।

कई डॉक्टरों से ली गई राय

डेढ घंटे तक चले सेमिनार में कई डॉक्टर हॉल में मौजूद थे, तो कई डॉक्टर ऑनलाइन के माध्यम से जुड़े थे। डायरेक्टर ने वैक्सीन के बारे में पूरी जानकारी और बाजार में जो भी नई दवा आई है उसपर चर्चा किया गया। नई दवा किस प्रकार मरीजों पर काम करेगी इसकी राय कई डॉक्टरों से ली गई।

टिप्स जो आपको कोरोना से लड़ने में मददगार साबित होगी 

  • नियमित मेडिटेशन करें: ध्यान किसी भी अवसाद व बीमारी के ख्याल से दूर रहने सबसे अच्छा तरीका है। रोज़ कम से कम आधे घंटे के लिए सही ध्यान जरूर करें, ये ध्यान आप संगीत के द्वारा भी कर सकते है। इससे आपके दिमाग शांत रहेगा। ये आपको नकारात्मक सोच से भी दूर रखेगा।
  • नियमित व्यायाम: व्यायाम या एक्सरसाइज को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बना ले। नियमित व्यायाम या एक्सरसाइज आपको स्वस्थ रखेगा व हर बीमारी से भी बचाए रखेगा।
  • पोष्टिक आहार: बाहर के खाने से परहेज रखें। ज़्यादा से ज़्यादा घर का बना खाना ही खाए। हर सब्ज़ी में अलग -अलग प्रकार के पोषण होते है। हरि सब्ज़ियां, फल को अपने आहार में शामिल है। ऐसे में किसी बीमारी से बचने में ताज़ी फल, सब्ज़ियां भी मददगार होती है।
  • शरीर को रखे हाइड्रेटेड: पानी खूब पीएं। इससे शरीर मे पानी की कमी नहीं होगी और आप स्वस्थ भी रहेंगे।
  • पर्याप्त नींद लें: कई लोगो को देर से सोने की आदत होती है। अगर आप देर से भी सो रहे है। आप अपने सोने का समय का फिक्स कर लें। पर्याप्त नींद न मिलने से भी शरीर में सुस्ती रहती है।
  • नियमित जीवनशैली रखें: लोगों को स्वस्थ के रहने के लिए एक नियमित जीवनशैली धारण करने की ज़रूरत है। समय से सोना, उठना, खाना। यदि हम इन सब चीजों को करने के लिए समय निर्धारित करें तो हमारा जीवन व स्वास्थ्य सरल हो जाएगा। और हम जल्दी किसी भी बीमारी से रिकवर हो सकते है।

Edited By: Sanjay Kumar