रांची, जासं। झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने गुरुवार को रिम्स का औचक निरीक्षण कर रिम्स के अधिकारियों से स्वास्थ्य व्यवस्था की जानकारी ली। मंत्री बन्ना गुप्ता करीब 10 बजे सुबह रिम्स पहुंचे और सीधे निदेशक डाॅ. कामेश्वर प्रसाद के साथ बैठक की। इस दौरान उनके साथ रिम्स सुपरिटेंडेंट डाॅ. विवेक कश्यप समेत विभिन्न विभागों के एचओडी मौजूद थे।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों का किया समीक्षा

बैठक के दौरान कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर की गई रिम्स की तैयारियों की समीक्षा की गई। मंत्री ने आवश्यक संसाधनों, मैनपावर की उपलब्धता, दवाइयों की स्टॉक समेत अन्य जरूरी संसाधनों की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की और कमियों को लेकर विशेष दिशा-निर्देश दिए।

स्पेशल कोविड वार्ड और चाइल्ड स्पेशल वार्ड की तैयारियों को लेकर हुई चर्चा

मंत्री ने स्पेशल कोविड वार्ड के संचालन की जानकारी प्राप्त की और चाइल्ड स्पेशल वार्ड और पीडियाट्रिक वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में भी विस्तृत जानकारी ली। बच्चों के इलाज संबंधित उपकरणों और दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश रिम्स प्रबंधन को दिया। रिम्स निदेशक को अस्पताल की व्यवस्थाओं की समीक्षा कर उसे बेहतर बनाने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने निदेशक को कहा कि सामूहिक नेतृत्व और टीम भावना से सुनिश्चित करें कि रिम्स में इलाज कराने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था मुहैया कराई जाए।

रिम्स में चल रहे टीकाकरण अभियान की समीक्षा की

मंत्री ने रिम्स में चल रहे टीकाकरण अभियान की समीक्षा की और इसमें तेजी लाने का निर्देश दिया। मंत्री ने कहा कि टीका की उपलब्धता सुनिश्चित हो, इसके लिए वे लगातार केंद्र सरकार से बात कर रहे हैं ताकि कोई कमी न हो। फिर भी सरकार प्रयास कर रही है कि टीकाकरण केंद्रों में टीका की कोई कमी न हो।

दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों ने वेतन की मांग की

बैठक के बाद रिम्स के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों ने स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात कर अपने लंबित वेतन की मांग की। इस पर तुरंत संज्ञान लेते हुए उन्होंने निदेशक को समस्याओं को दूर करते हुए वेतन रिलीज करने का निर्देश दिया।

Edited By: Sujeet Kumar Suman