पलामू, जासं। झारखंड के पलामू से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जिला अंतर्गत नौडीहा बाजार प्रखंड में जमीन विवाद में बुधवार की रात टांगी से काटकर एक मां व उसके बेटे की हत्या कर दी गई है। हत्‍या करने वाले दो भाई हैं। सूचना मिलने के बाद नौडीहा बाजार थाना पुलिस घटना स्थल की ओर रवाना हो गई है। जानकारी के अनुसार नौडीहा बाजार में दो सगे भाईयों ने जमीन विवाद में दादी और चाचा की कुल्हाड़ी से गला काटकर हत्या कर दी है। हत्‍यारोपितों की मां की मौत करीब एक माह पहले हो गई थी। इस कारण भी दोनों अंधविश्‍वास में थे।

घटना को अंजाम देने के बाद मां-बेटे के हत्यारोपितों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण भी कर दिया है। ग्रामीणों ने बताया कि हत्या की घटना से पूरा गांव दहल उठा है। जानकारी के अनुसार मृतकों में नौडीहा थाना क्षेत्र अंतर्गत खैरा दोहर पंचायत के सिल्दा खुर्द निवासी तपेश्वर सिंह की पत्नी और बेटा थे। यह घटना नौडीहा बाजार थाना के झनझुनवा पहाड़ पर हुई है। आरोपितों ने मां-बेटा की गर्दन काट कर हत्या की है।

नौडीहा बाजार थाना की पुलिस दोनों आरोपियों को अपने साथ ले गई है। नौडीहा बाजार थाना प्रभारी रंजीत कुमार ने बताया कि पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में ले लिया है और मामले की छानबीन कर रही है। प्रथम दृष्टया यह मामला अंधविश्वास और जमीन विवाद से जुड़ा हुआ लग रहा है। उन्होंने बताया कि पुलिस सभी बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है। जानकारी के अनुसार नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के खैरादोहर में विनोद सिंह व बबन सिंह नामक युवक का गांव के ही झुलझुल पहाड़ पर खेती बारी है।

उसके अपने चाचा प्रभु सिंह के साथ कुछ जमीन का भी विवाद था। विनोद की मां की मौत करीब एक महीने पहले हो गई थी। मौत के बाद दोनों भाई अंधविश्वास में आ गए थे। बुधवार की देर शाम प्रभु सिंह व उसकी मां कलावती देवी झूलझूल पहाड़ पर ही अपने झोपड़ी नुमा घर में थी। इसी क्रम में दोनों भाई वहां पंहुचे और अपने चाचा प्रभु सिंह तथा दादी कलावती देवी की टांगी से हत्या कर दी।

दोनों भाई गुरुवार की अहले सुबह मेदिनीनगर टाउन थाना पंहुचकर आत्मसमर्पण कर दिया। दोनों ने हत्या में इस्तेमाल टांगी भी पुलिस को दिखाई। बाद में नौडीहा बाजार थाना की पुलिस झुलझुल पहाड़ पर पहुँची और दोनों के शवों को उतारा। पुलिस को दोनों भाइयों ने बताया कि चाचा प्रभु सिंह आपराधिक प्रवृत्ति का था और उन्हें दबाकर रखता था।

Edited By: Sujeet Kumar Suman