रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Coronavirus Updates राज्य सरकार द्वारा कोरोना जांच को लेकर चलाए गए विशेष अभियान में पूरे राज्य में तीन दिनों में 50 हजार से अधिक सैंपल लिए गए। इनमें 46,634 लोगों की जांच रिपोर्ट आ चुकी है। हालांकि राज्य सरकार ने इस अभियान में एक लाख लोगों की जांच का लक्ष्य रखा था, लेकिन अब अधिकारियों का कहना है कि यह लक्ष्य तीन दिनों का नहीं, बल्कि अगले कई दिनों तक का है।

राज्य सरकार द्वारा चलाए गए इस विशेष अभियान का बेहतर परिणाम आया है। इससे राज्य में 10 लाख की आबादी पर जांच की दर काफी बढ़ गई है। 30 जुलाई तक राज्य में 10 लाख की आबादी पर 7,601 लोगों की जांच हो रही थी। इस विशेष अभियान में तीन दिनों में 46,634 लोगों की जांच होने से 10 लाख की आबादी पर जांच बढ़कर 8,837 हो गई।

इस तरह, दस लाख की आबादी पर 1,236 लोगों की जांच तीन दिनों में बढ़ गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान, झारखंड के अनुसार तीन अगस्त को शाम तीन बजे तक कुल 47,531 सैंपल जांच हेतु भेेजे गए। जिलों से और भी सैंपल भेजने की सूचना आ रही है। इस अभियान की सफलता को देखते हुए इसे आगे भी जारी रखने का निर्णय लिया गया है।

रैपिड एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिविटी रेट 3.63 फीसद

विशेष जांच अभियान में आरटी-पीसीआर तथा ट्रूनेट के सैंपल की जांच अभी जारी है। वहीं, रैपिड एंटीजन टेस्ट से कुल 22,527 सैंपल की जांच हुई, जिनमें 819 सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इस तरह, रैपिड एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिविटी रेट 3.63 फीसद सामने आया। बता दें कि रैपिड एंटीजन टेस्ट से आधे घंटे में ही रिपोर्ट आ जाती है।

किस जांच विधि में लिए गए कितने सैंपल

आरटी-पीसीआर : 18683

ट्रूनेट : 6321

रैपिड एंटीजन टेस्ट : 22,527

'इस विशेष अभियान का बेहतर परिणाम सामने आया है। राज्य में प्रति 10 लाख की आबादी पर जांच की दर काफी बढ़ गई। विभिन्न जिलों से सैंपल मिलना जारी है। यह संख्या 50 हजार से ऊपर हो सकती है। एक लाख सैंपल की जांच का लक्ष्य तीन दिनों के बजाए पूरे अभियान अवधि का है जो आगे भी जारी रहेगा।' -रविशंकर शुक्ला, अभियान निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान, झारखंड।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021