रांची, जेएनएन। झारखंड में अब सरकार से लेकर तमाम सरकारी दफ्तरों तक कोरोना का साया मंडराने लगा है। सरकार के एक मंत्री और एक विधायक के संक्रमित पाए जाने के बाद जहां तमाम मंत्री और विधायक होम क्वारंटाइन होकर सारे कामकाज निबटा रहे हैैं, वहीं सचिवालय में सन्नाटा पसरा है। दूसरी ओर आधा दर्जन जिलों में उपायुक्त कार्यालयों से लेकर विभिन्न विभागों के दफ्तर, पुलिस थाने और सैनिकों के कैंप भी संक्रमण की जद में हैैं।

इन कार्यालयों के कर्मियों के संक्रमित पाए जाने के बाद बाकी कर्मियों को भी संक्रमण की चिंता सताने लगी है। इसे देखते हुए पर अब बचाव के गाइडलाइन का पालन कराने के लिए शुक्रवार को सरकारी अमले ने भी अपने तेवर कड़े किये। ज्ञात हो कि शुक्रवार को ही एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने भी सरकार को कोरोना से बचाव के गाइडललाइन का सख्ती से पालन कराने की हिदायत दी है। इसके बाद सरकार ने भी अपने स्तर से सख्ती के आदेश जारी किये। 

अधिकारियों-कर्मचारियों की चिंता बढ़ी

मंत्री के संक्रमित पाए जाने के बाद नेपाल हाउस और प्रोजेक्ट भवन में स्थित सचिवालय के कर्मी भी खुद को क्वारंटाइन किये जाने, कोरोना जांच कराने व दफ्तरों को सैनिटाइज कारने की मांग कर रहे हैैं। वहीं मंत्रियों के संपर्क में आए राज्य के कई वरिष्ठ अधिकारियों की भी चिंता बढ़ गई है। 

पूर्वी सिंहभूम में प्रशासन ने बढ़ाई सख्ती, 136 गिरफ्तार

पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर सख्ती बरतनी शुरू की है। जमशेदपुर में शारीरिक दूरी का पालन और मास्क का उपयोग नही करने वाले 136 लोगो को गिरफ्तार किया गया है। वहीं मास्क पहनने और शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन करने को लेकर कड़े निर्देश जारी किए गए हैैं।  प्रशासन ने एक कैंप जेल भी बना दिया है, जहां बिना मास्क पहने हुए पकड़े गए लोगों को रखा जाएगा। यहां सीमा पर बिना पास वाले वाहनों की इंट्री रोकने समेत कई निर्देश जारी किए गए हैैं। 

सरायकेला में पुलिस के सभी अफसरों व जवानों की जांच

पुलिसकर्मियों के संक्रमण की चपेट में आने के खतरे को देखते हुए सरायकेला जिले में एसपी मोहम्मद अर्शी ने लगातार सभी पुलिस पदाधिकारियों और पुलिस जवानों का कोविड-19 टेस्ट कराए जाने के अभियान की शुरुआत की है। शुक्रवार को कई पुलिसकर्मियों की जांच हुई। 

कई जिलों में डीसी ऑफिस समेत अन्य कार्यालय और बाजार बंद

चतरा में डीसी ऑफिस के चार कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद डीसी ऑफिस दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं, कार्यालय परिसर के अंदर अधिकारी से लेकर कॢमयों और आम व्यक्ति का प्रवेश वॢजत कर दिया गया है।

उधर रामगढ़ में भी समाहरणालय के तीन कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद एहतियात के तौर पर डीसी, एसपी, डीडीसी व एसडीओ न्यायालय बंद कर दिए गए हैैं। यहां डीसी, डीडीसी से लेकर हर कर्मचारी की कोविड जांच होनी है।

उधर प्रशासन ने रामगढ़ के व्यापारिक प्रतिष्ठानों को आठ दिनों तक बंद रखने का निर्देश दिया है। कोडरमा में भी बढ़ते संक्रमण के बाद डीसी आफिस में आमलोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। यहां सराफा व्यवसायियों ने 11 से 18 जुलाई तक दुकानों को बंद रखने का निर्णय लिया है।

चाईबासा में खनन अधिकारी और उपायुक्त कार्यालय के कई कर्मियों के पॉजिटिव पाए जाने के बाद कई दिन पहले से ही उपायुक्त कार्यालय में आमलोगों के प्रवेश पर है रोक। दूसरी ओर शहर में जगह-जगह चल रहा है सैनिटाइजेशन का काम।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस