रांची, जासं। झारखंड में आज शनिवार शाम 4 बजे से संपूर्ण लॉकडाउन शुरू होने वाला है। यह सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा। इस दौरान दवा दुकान छोड़कर सभी दुकानें बंद रहेंगी। इसलिए दूध से लेकर हर जरूरी सामान जल्‍द खरीद लें। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए पूरे झारखंड राज्य में सख्ती से लगाए गए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का असर दिख रहा है। संक्रमण के कम होने के बाद सरकार ने पूर्वी सिंहभूम जिले को छोड़कर बाजार को सख्त निर्देशों के साथ खोलने का आदेश दिया है। मगर इसके साथ ही सरकार ने सड़क पर लोगों की भीड़ को नियंत्रित और संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए हर रविवार को कंप्लीट लाॅकडाउन की घोषणा की है।

कंप्लीट लाॅकडाउन की अवधि शनिवार चार बजे से सोमवार की सुबह छह बजे तक रहेगी। यह संपूर्ण लॉकडाउन राज्‍य के सभी 24 जिलों में लागू होगा। इस दौरान बेवजह घर से बाहर निकलने पर पुलिस कार्रवाई करेगी। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। इस बीच राज्य सरकार के द्वारा वैक्सीनेशन का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। ऐसे में लोगों को आज शाम से पहले ही अपने खाने-पीने से लेकर बाकी जरूरी सामान को खरीद लेना चाहिए।

इनको मिलेगी छूट

बंद के दौरान राज्य में खनन, निर्माण, औद्योगिक प्रतिष्ठान और कृषि कार्य से जुड़े कार्य पर कोई रोक नहीं होगी। मगर इस दौरान इनसे जुड़ी दुकानें बंद रहेगी। ऐसे में इनसे जुड़ी अगर कोई चीज खरीदनी है तो उसकी तैयारी आज ही करनी होगी। बंदी के दौरान अवैध रूप से व्यापार करते या नियम का उल्लंघन करते पकड़े जाने पर जिला प्रशासन के द्वारा कठोर कार्रवाई की जाएगी। वर्तमान में सरकारी आदेश के तहत सभी दुकानों और प्रतिष्ठानों को शनिवार शाम चार बजे तक ही खुलने की इजाजत है। हालांकि इस दौरान मेडिकल शाॅप, डाग्नोस्टिक सेंटर, क्लिनिक, अस्पताल, पेट्रोल पंप, सीएनजी पंप, रसोई गैस, रेस्टोरेंट से खाने की होम डिलीवरी, कोल्ड स्टोरेज, गोदाम, हाइवे पर ढाबा, और माल वाहक वाहनों को छूट मिलेगी।

डरा रही है बाजार की भीड़

सरकार के द्वारा सख्त निर्देशों के साथ बाजार खोला गया है। मगर बाजार में लोगों की भीड़ अब डरा रही है। अपर बाजार से लेकर हर छोटे-बड़े बाजार और सब्जी मंडियों में लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है। सदर अस्पताल में पोस्ट कोविड ओपीडी के इंचार्ज डाॅ. अजीत कुमार बताते हैं कि ऐसी हालत रही तो हम कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को झेलने वाले सबसे पहले राज्य बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगले दो महीने की हमारी समझदारी पर निर्भर है कि राज्य में कोरोना की तीसरी लहर कब आएगी। डाॅ. अजीत कुमार ने लोगों से अपील की है कि वैक्सीनेशन पूरी तरह से सुरक्षित है। वो जल्द से जल्द टीका लें। इससे हमें तीसरी लहर से निपटने में मदद मिलेगी।

Edited By: Sujeet Kumar Suman