रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। Lockdown in Jharkhand झारखंड में लॉकडाउन दो सप्‍ताह के लिए बढ़ाया गया है। कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने के लिए मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज  इस बारे में बड़ा एलान किया है। कोरोना संक्रमण के गांवों में फैलाव रोकने को लेकर राज्‍य में और सख्‍ती बढ़ाई गई है। अब शादी-विवाह में सिर्फ 11 लोग ही शामिल हो सकेंगे। बाहर आने-जाने पर रोक लगा दी गई है। हालांकि बीते कुछ दिनों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण से बेकाबू हो रहे हालात थोड़े सुधरे हैं, लेकिन दूसरे राज्‍यों से झारखंड आ रहे बड़ी संख्‍या में प्रवासियों के कारण एक बार फिर से संक्रमण तेजी से फैलने का खतरा बढ़ गया है।

31 मई तक लगाई गई हैं पाबंदियां

बीते दिन राज्‍य सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर 31 मई तक पाबंदियां लगाते हुए प्रवासियों के लिए नई गाइडलाइन जारी की थी। इसके तहत दूसरे राज्‍यों से आने वाले प्रवासियों को सात दिनों तक सरकारी क्‍वारंटाइन में रहना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके बाद कोरोना जांच में निगेटिव पाए जाने पर ही उन्‍हें घर जाने की छूट होगी। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर प्रवासियों को सरकार के नियमों के तहत इलाज कराना होगा।

22 अप्रैल से तीन बार बढ़ चुका है झारखंड में लॉकडाउन

इधर कोरोना की दूसरी लहर में झारखंड में अबतक दो बार लॉकडाउन लगाया गया है। स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा सप्‍ताह के नाम से लगाई गई बंदिशें अबतक दो बार बढ़ाई जा चुकी है। पहली बार 22 अप्रैल सुबह छह बजे से 29 अप्रैल सुबह छह बजे तक और दूसरी बार इसे छह मई तक बढ़ाया गया था। जबकि इस बार तीसरे चरण में झारखंड में लॉकडाउन 13 मई तक प्रभावी है। इस बीच झारखंड के पड़ोसी राज्‍य बिहार और उड़ीसा में संपूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है। ऐसे में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने को झारखंड में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

कड़े फैसले लेने को तैयार है हेमंत सरकार

सरकारी सूत्रों के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले राज्‍य में युद्धस्‍तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। कई राज्यों में संपूर्ण लाकडाउन लगाया गया है, ऐसे में राज्‍य सरकार भी किसी भी परिस्थिति से निबटने और कड़े फैसले लेने को तैयार है। इससे पहले राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने झारखंड में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने के बारे में सीएम हेमंत सोरेन से बात की थी। बहरहाल, कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए झारखंड में संपूर्ण लॉकडाउन कभी भी लगाया जा सकता है।

अबकी बार झारखंड में संपूर्ण लॉकडाउन, सियासत भी तेज

इधर सीएम हेमंत सोरेन की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ट्विटर पर निशाना साधने के बाद झारखंड में सियासत भी तेज हो गई है। भाजपा नेता सरकार को घेरने में जुटे हैं। सत्तारुढ़ दल झारखंड मुक्ति मोर्चा जहां केंद्र सरकार से जरूरी मदद नहीं मिलने की दुहाई दे रही है, वहीं बीजेपी ने अबतक केंद्र से मिली मदद पर श्‍वेतपत्र लाने की मांग कर दी है। झामुमो ने विदेशों से मिलने वाली मदद से लेकर कोरोना वैक्‍सीन तक के मामले में मोदी सरकार को घेरते हुए हजारों करोड़ के घोटाला का संगीन आरोप लगा चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप