रांची, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि निवेश उसी राज्य मेें होता है जिस राज्य की नीति और नीयत स्पष्ट हो। हमने पहले नीतियां बनाई फिर निवेशकों को आमंत्रित किया, आज उसके सुखद परिणाम सामने है। यह बातें रांची के होटवार इंडस्ट्रियल एरिया में शुक्रवार को ओरिएंट क्राफ्ट की नई यूनिट के उद्घाटन के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहीं। रघुवर ने कहा कि झारखंड में एमओयू पहले भी हुए लेकिन नीति न होने के कारण धरातल पर नहीं उतरे।

मुख्यमंत्री ने झारखंड की टेक्सटाइल पॉलिसी का भी जिक्र किया। कहा, झारखंड की टेक्सटाइल पालिसी विश्व की सबसे अच्छे पालिसी है।  इस मौके पर मुख्यमंत्री ने ओरिएंट क्राफ्ट के चेयरमैन सुधीर ढींगरा के प्रयासों की सराहना की। कहा, उन्होंने धनतेरस व दीपावली के मौके पर राज्य की बच्चियों को बड़ा तोहफा दिया है।  कहा कि झारखंड को विकासशील राज्य से विकसित राज्य की श्रेणी में लाना है और वस्त्र उद्योग इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

सीएम ने कहा कि सरकार कृषि और उद्योग के विकास को समानांतर लेकर चल रही है। इस मौके पर उन्होंने कृषि क्षेत्र के विकास के लिए उठाए गए कदमों की भी चर्चा की। इस मौके पर रांची सांसद संजय सेठ, कांके विधायक जीतू चरण राम, ओरिएंट क्राफ्ट के चेयरमैन सुधीर ढींगरा और मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील वर्णवाल ने भी अपने विचार रखे।

हर सेक्टर में रोजगार का हो रहा है सृजन

मुख्यमंत्री ने बताया कि वस्त्र उद्योग में लगातार निवेश हो रहा है। स्टील, पावर, फूड प्रोसेसिंग, फर्नीचर, फुटवेयर  समेत अन्य सेक्टर में भी निवेश हो रहा है। आज ही चीन से आए प्रतिनिधिमंडल से हमारी मुलाकात हुई। उन्हें वस्त्र और जूता चप्पल उद्योग में निवेश करना है। उनके लिए सात एकड़ जमीन की व्यवस्था भी हो गई है।

मूकबधिर युवती ने इशारों में अपने उद्गार व्यक्त किए, सीएम हुए भावुक

ओरिएंट क्राफ्ट में काम करने वाली एक मूकबधिर युवती टुन्नी ने इशारों में अपने उद्गार व्यक्त किए। जिसे एक अन्य युवती ने समझाया। यह दृश्य देखकर मुख्यमंत्री भावुक हो गए। अपने संबोधन में भी सीएम ने इसका जिक्र किया। कहा, दिव्यांगों को रोजगार मिलता देखकर मन भर आया। ओरिएंटल क्राफ्ट दिव्यांगजनों को हुनरमंद बनाकर रोजगार देने का कार्य कर रही है, समाज में इसका सकारात्मक संदेश जाएगा।

झारखंड में बांग्लादेश और वियतनाम को पीछे छोडऩे की क्षमता : सुनील वर्णवाल

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ने डॉ सुनील कुमार वर्णवाल ने कहा कि वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में झारखंड तेजी से आगे बढ़ रहा है। झारखंड में इतनी क्षमता है कि वह बांग्लादेश और वियतनाम को भी पीछे छोड़ दे। उन्होंने ओरिएंट क्राफ्ट का जिक्र करते हुए कहा कि दो साल में यह यूनिट बनकर तैयार हो गई। आनेवाले दिनों में यहां करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

90 दिनों के भीतर तीसरी यूनिट शुरू करेगा ओरिएंट क्राफ्ट

ओरिएंट क्राफ्ट ने झारखंड में 90 दिनों के भीतर अपनी तीसरी यूनिट शुरू करने की बात कही है। इस यूनिट में 500 दिव्यांगों को नौकरी दी जाएगी।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस