रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand News मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि कोरोना से निपटने तथा लोगों को आवश्यक चिकत्सीय सुविधा उपलब्ध कराने में उनकी सरकार लगातार संवेदनशीलता और सहनशीलता के साथ काम कर रही है। सरकार सारी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने तथा उन्हें कारगर बनाने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने ये बातें शुक्रवार को अपने आवास पर अमृत वाहिनी वेबसाइट, मोबाइल ऐप तथा वाट्सएप चैटबोट (8595524447) के लोकार्पण के अवसर पर कहीं। उन्होंने कहा कि इनके माध्यम से मरीजों को आवश्यक चिकित्सीय सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध कराइ जाएंगी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना से निपटने का लगातार प्रयास कर रही है। इस दिशा में कई कारगर व्यवस्थाएं स्थापित की गई हैं, जिनका फायदा राज्यवासियों को हो रहा है। इसी क्रम मे अमृत वाहिनी के जरिए एक और कदम हम आगे बढ़े हैं। अमृत वाहिनी वेबसाइट अमृत वाहिनी डाट इन तथा ऐप के माध्यम से सभी अस्पतालों में कोविड सामान्य बेड, ऑक्सीजन युक्त बेड, आइसीयू बेड और वेंटिलेटर बेड की उपलब्धता की जानकारी मिल सकेगी। साथ ही उनकी ऑनलाइन बुकिंग की भी सुविधा प्राप्त होगी। वहीं, चैटबोट के जरिए संक्रमित मरीज ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श ले सकेंगे।

चुनौतियों से निपटने के लिए उठाए जा रहे कई कदम

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है, सरकार भी उसी गति के साथ इससे निपटने के लिए काम कर रही है। अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड और वेंटिलेंटर निरतंर बढ़ रहे हैं। आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को कोविड मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है। अबतक लगभग 43 हजार लोगों को यह उपलब्ध कराया जा चुका है। वहीं कोविड सर्किट के माध्यम से 800 से ज्यादा संक्रमितों को ऑक्सीजन युक्त बेड उपलब्ध कराए जा चुके हैं। संजीवनी वाहन के माध्यम से अस्पतालों के लिए इमरजेंसी में चौबीस घंटे ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है। वहीं, निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए 70 प्रतिशत बेडों को आरक्षित करने के निर्देश दिए गए हैं।

सर्दी, जुकाम और बुखार को हल्के में न लें लोग

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से आग्रह किया कि वे सर्दी, जुकाम और बुखार को हल्के में न लें। ये लक्षण हैं तो वे तुरंत अपने को आइसोलेट कर लें और कोरोना जांच कराएं। इससे न सिर्फ अपने को बचा सकते हैं बल्कि परिवार को भी सुरक्षित रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि लोग जानकारी के अभाव में हतोत्साहित हो रहे हैं। लोगों से आग्रह है कि वे घबराएं नहीं। सरकार उनकी मदद के लिए पूरी तरह तैयार है। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, विकास आयुक्त सह स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का और नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे आदि उपस्थित थे।

अमृत वाहिनी वेबसाइट, ऐप और चैटबोट से मिलेंगी ये सुविधाएं

  • अमृत वाहनी वेबसाइट अमृत वाहिनी डाट इन और मोबाइल ऐप पर राज्य के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में सभी श्रेणी के बेडों के उपलब्धता की रियल टाइम जानकारी मिल सकेगी। इसके साथ बेडों की ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा भी लोगों को मिलेगी। इसके जरिए कोरोना मेडिकल किट भी प्राप्त कर सकते हैं। वहीं, अस्पतालों द्वारा रेमडेसिविर दवा की मांग और प्रबंधन की मॉनिटरिंग भी इसके जरिए होगी।
  • वाट्सएप चैटबोट नंबर 8595524447 पर ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श ले सकते हैंं। इसके साथ दवा, आहार चार्ट, जिला कंट्रोल रुम से संपर्क, प्लाज्मा दान, होम आइसोलेशन किट से संबंधित जानकारी प्राप्त का जा सकती है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप