मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रांची, जेएनएन। झारखंड प्रदेश भाजपा मुख्यालय में गुरुवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास भावुक हो गए। मौका था पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर श्रद्धांजलि सभा का। रांची में गुरुवार को सुषमा स्वराज की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद मुख्यमंत्री कुर्सी पर बैठने के बाद अपने आप को रोक नहीं सके और उनकी आंखें भर आईं। उन्होंने समारोह में मौजूद लोगों के बीच कहा कि लोगों की सेवा में सुषमा दीदी ने अपना जीवन समर्पित कर दिया। हम इसी राह पर चलकर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित कर सकते हैं।
वे महिलाओं के लिए एक प्रेरणा थीं। वो सरकार के मानवीय मूल्यों की वाहक थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे ट्विटर के जरिये जन समस्याओं का समाधान करती थीं। छोटी से छोटी समस्या हो या बड़ी से बड़ी, त्वरित कार्रवाई के लिए सक्रिय हो जाती थीं और उसका समाधान करके ही चैन लेती थीं। उन्होंने एक वाक्ये का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने उनसे झारखंड में विदेश मंत्रालय का ऑफिस खोलने का आग्रह किया था। इस पर उन्होंने राज्य की जरूरतों को समझते हुए तुरंत स्वीकृति दे दी थी।





उन्होंने मेरे मुख्यमंत्री बनने पर कहा था कि झारखंड को आगे लेकर बढ़ो, विकास करो। कहा कि झारखंड के कामगारों को विदेश में दिक्कत होती थी तो मैं उन्हें फोन करता था। वो मुझे आश्वस्त करती थीं और तुरंत सक्रिय हो जाती थीं। कुछ ही घंटों में परिणाम हमारे सामने होता था। इससे पूर्व प्रदेश कार्यालय में मौजूद लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास के अलावा मंत्री सीपी सिंह, विधायक नवीन जायसवाल, राज्य सभा सांसद महेश पोद्दार के अलावा प्रदेश भाजपा के कई विधायक, पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप