रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के आज तीसरे दिन महागामा से कांग्रेस की विधायक दीपिका पांडेय ट्रैक्टर से झारखंड विधानसभा पहुंची। उन्‍होंने केंद्र में किसान विरोधी बिल पास होने का आरोप लगाते हुए इसका विरोध कुछ इस तरह से किया। इधर, नियोजन नीति पर झारखंड हाई कोर्ट के आदेश के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा विधायकों ने सदन में हंगामा किया। इसके बाद सदन दोपहर साढ़े बारह बजे के लिए स्‍थगित कर दिया गया। अभी से कुछ देर पहले कार्यवाही फिर से शुरू हो गई है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नियोजन नीति पर हाई कोर्ट के आदेश पर कहा कि यह पिछली सरकार की करनी का नतीजा है। जैसी करनी वैसी भरनी। पिछली सरकार ने दूसरे राज्यों के लोगों को नौकरी देने के लिए 11 जिलों में नौकरी के दरवाजे खोल दिए थे। इसके बाद विपक्ष फिर हंगामा करने लगा। हंगामा करते हुए विधायक वेल में पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने 5 वर्षों तक झारखंडियों को धोखा ही दिया। इधर, झारखंड विधानसभा के गेट पर दैनिक जागरण में छपी खबर को पूर्व मंत्री व विधायक अमर बाउरी व अन्‍य विधायकों ने दिखाते हुए प्रदर्शन किया।

हंगामा करते हुए भाजपा विधायक वेल में पहुंचे। विधायक अमर बाउरी ने चर्चा की मांग को लेकर कार्यस्थगन प्रस्ताव लाया। सत्ता पक्ष के विधायकों ने कहा कि पिछली सरकार ने मूलवासियों के साथ खिलवाड़ किया है। इस दौरान विधायक रणधीर सिंह पर स्पीकर नाराज हुए। उन्‍होंने सदन से बाहर निकालने का आदेश दिया। भाजपा विधायकों ने सदन में दैनिक जागरण की प्रति लहराई। सदन में हंगामा जारी रहा। इसके बाद सदन की कार्यवाही 12.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस