रांची, राज्य ब्यूरो। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) झारखंड में अध्यक्ष विहीन हो गई है। लंबे समय से प्रदेश में पार्टी का नेतृत्व संभाल रहे जलेश्वर महतो के कांग्रेस का दामन थाम लेने से यह स्थिति उत्पन्न हुई है। भले ही पार्टी के वरिष्ठ नेता जलेश्वर महतो के जाने से पार्टी पर कोई असर नहीं पड़ने की बात कह रहे हों, लेकिन पार्टी इसे लेकर सकते में है।

तभी तो नीतीश कुमार के निर्देश पर प्रदेश प्रभारी रामसेवक सिंह अचानक न केवल रांची पहुंचे, बल्कि पार्टी पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों के साथ ताजा हालात पर चर्चा की।

गुरुवार को विधानसभा परिसर स्थित विधायक आवास सभागार में प्रदेश प्रभारी ने तमाम पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने का पूरा प्रयास किया। उन्होंने कहा कि जलेश्वर के कांग्रेस में जाने से पार्टी और मजबूत होगी, क्योंकि वे प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी का निर्वहन सही ढंग से नहीं कर रहे थे।

उन्होंने नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर पदाधिकारियों से रायशुमारी भी की। किसी ने संताल तो किसी ने पलामू के कार्यकर्ताओं तो किसी ने किसी आदिवासी को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया। अंत में पार्टी नेताओं ने इसके लिए प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को अधिकृत कर दिया।

प्रदेश प्रभारी के अनुसार, 14 जनवरी के बाद नए अध्यक्ष की नियुक्ति कर ली जाएगी। बैठक में सुधा चौधरी, कृष्णानंद मिश्रा, भगवान सिंह, संजय सहाय, श्रवण कुमार, जफर कमाल आदि उपस्थित थे।

जलेश्वर के साथ नहीं गया कोई

प्रदेश प्रभारी रामसेवक सिंह ने कहा है कि जलेश्वर के साथ एक भी पार्टी पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष व कार्यकर्ता नहीं गया। पार्टी ने 19 जिलों में जिला अध्यक्षों की नियुक्ति और कमेटियां गठित की हैं। उनके अनुसार, सभी के सभी इस बैठक में पहुंचे।

दौड़ में हैं खीरू, बटेश्वर व सुधा

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में पूर्व विधायक खीरू महतो, पूर्व मंत्री सुधा चौधरी तथा वरिष्ठ नेता बटेश्वर मेहता आदि हैं। खीरू महतो पहले भी यह जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

अकेले चुनाव लड़ेगी पार्टी

प्रदेश प्रभारी ने एक बार फिर लोकसभा व विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने की बात कही। कहा कि झारखंड में भाजपा के साथ कोई गठबंधन नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस