रांची, राज्य ब्यूरो। रामगढ़ के पतरातू प्रखंड में मिड डे मील घोटाले की जांच होगी। इस मामले की जांच की जिम्मेदारी स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की संयुक्त सचिव गरिमा सिंह को दी गई है। यह कार्रवाई रामगढ़ के जिला शिक्षा पदाधिकारी (डीईओ) की रिपोर्ट पर की गई है। साथ ही, यह मामला आने के बाद सभी उपायुक्तों को ऐसे मामले की पहचान कर आवश्यक कार्रवाई करने को कहा गया है। दरअसल, पतरातू के तत्कालीन प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी (बीईईओ) राजेंद्र प्रसाद शर्मा पर मिड डे मील के 451 क्विंटल चावल के गबन का आरोप है।

इसने पिछले साल जनवरी से सितंबर तक 12 स्कूलों को अधिक चावल आवंटित कर दिया। इनमें से चार स्कूलों ने चावल के उठाव किए। आठ स्कूलों के प्रधानाध्यापकों के फर्जी हस्ताक्षर कर चावल का उठाव कर लिया गया, जबकि चावल स्कूल को मिला ही नहीं। डीईओ की जांच में यह बात सामने आई कि मिड डे मील की पंजी में ओवर राइटिंग थी, जिसमें कई बदलाव किए गए थे।

इससे 451 क्विंटल चावल के गबन की बात सामने आई। बता दें कि राजेंद्र प्रसाद शर्मा को अपनी एजेंट पत्नी के लिए शिक्षकों पर दबाव डालकर उनसे बीमा कराने के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया है। अब इस नए मामले में उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने तथा चावल गबन के आरोप में राशि की वसूली की कार्रवाई भी हो सकती है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021