राजेश पाठक, रांची। अब रांची नगर निगम की इंफोर्समेंट टीम वॉकी-टॉकी से लैस होगी। कम्युनिकेशन सिस्टम को सशक्त करने के उद्देश्य से पूर्व नगर आयुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने इस योजना की तैयारी की थी। इंदौर नगर निगम में इंफोर्समेंट सेल की अत्याधुनिक व्यवस्था देखने के बाद उन्होंने रांची नगर निगम के इंफोर्समेंट टीम को भी वॉकी-टॉकी से सुसज्जित करने की तैयारी की थी। उनके आदेश पर रांची नगर निगम केनवुड कंपनी के 18 वायरलेस सेट की खरीदारी भी कर चुका है। हालांकि दिल्ली स्थित टेली कम्युनिकेशन विभाग से लाइसेंस नहीं मिलने के कारण यह प्रणाली फिलहाल शुरू नहीं हो पाई है।

वायरलेस सिस्टम को बेहतर प्लेटफॉर्म प्रदान करने के लिए नगर निगम परिसर में एक टावर लगाने की भी योजना है। नए नगर आयुक्त मनोज कुमार भी इंफोर्समेंट टीम को मॉडर्न तकनीक से सुसज्जित करने की इच्छा जता चुके हैं। इंफोर्समेंट टीम की वर्तमान कार्यप्रणाली को विकसित करने के लिए वे भी सिंगल कम्युनिकेशन सिस्टम को लागू करने की योजना तैयार कर रहे हैं। नगर आयुक्त की मानें तो सिंगल कम्युनिकेशन सिस्टम के तहत इंफोर्समेंट सेल से संबंधित सभी अधिकारी एक-दूसरे के संपर्क में रखेंगे। आम लोगों की शिकायतों के समाधान के दौरान निचले स्तर से उपर तक के अधिकारी एक-दूसरे के संपर्क में रहेंगे। स्वयं नगर आयुक्त भी इंफोर्समेंट सेल के पल-पल की गतिविधि से वाकिफ होंगे।

मोबाइल व वाट्सएप से होती है निगरानी वर्तमान में रांची नगर निगम की इंफोर्समेंट टीम की कार्य प्रणाली की मॉनिट¨रग मोबाइल व वाट्सएप के माध्यम से की जाती है। हालांकि कार्रवाई के दौरान आरोप-प्रत्यारोप से बचाव के लिए इंफोर्समेंट टीम को बटन कैमरा उपलब्ध कराए जा चुके हैं। आम लोगों की शिकायत का समाधान करते समय इंफोर्समेंट टीम बटन कैमरा के माध्यम से पूरी कार्रवाई की रिकॉर्डिग करती है। ताकि किसी व्यक्ति द्वारा गलत आरोप लगाए जाने पर पूरे मामले की निष्पक्षता पूर्वक जांच की जा सके। इसके अलावा इंफोर्समेंट टीम द्वारा की जाने वाली कार्रवाई की फोटो वाट्सएप ग्रुप पर भेजी जाती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस