रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand News, TeacherTeachers Eligibility Test 2021 राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की नई गाइडलाइन मिलने के बाद ही होगी। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग यह गाइडलाइन मिलने के बाद उसके अनुसार, नियमावली में संशोधन कर शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित करेगा।

शिक्षा विभाग के अनुसार, एनसीटीई ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के तहत यह परीक्षा अब माध्यमिक तथा उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए भी अनिवार्य करने को लेकर पत्र भेजा है। साथ ही नई गाइडलाइन जारी करने को लेकर राज्य से कुछ जानकारियां भी मांगी हैं।

दरअसल, अभी तक शिक्षक पात्रता परीक्षा कक्षा एक से आठ तक के शिक्षकों के लिए ही होती रही है। अब यह कक्षा नौ से बारह के शिक्षकों की नियुक्ति के लिए अर्हता तय करने को लेकर भी होगा। इसके लिए जहां एनसीटीई को नया रेगुलेशन जारी करना होगा, वहीं राज्य सरकार को भी अपनी नियमावली में बदलाव करना होगा। राज्य में यह परीक्षा महज दो बार वर्ष 2012 ततथा 2016 में हुई है।

राज्य के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इस परीक्षा के आयोजन को लेकर दो वर्ष पूर्व ही अनुशंसा झारखंड एकेडमिक काउंसिल को भेजी थी, लेकिन नियमावली में कुछ त्रुटि होने के कारण परीक्षा नहीं हो सकी। शिक्षक प्रशिक्षण प्राप्त करनेवाले हजारों अभ्यर्थी इस परीक्षा के शीघ्र आयोजन को लेकर आशान्वित हैं। बता दें कि शिक्षक नियुक्ति में शामिल होने के लिए यह परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।

राज्य में शिक्षकों के कितने पद रिक्त

  • प्रारंभिक विद्यालय : 24,344
  • माध्यमिक-उच्चतर माध्यमिक विद्यालय : 16,680