सेन्हा (लोहरदगा),जासं। पति का पिछले कई महीनों से किसी दूसरी महिला के साथ अवैध संबंध था। पत्नी बार-बार पति को समझाने की कोशिश कर रही थी, परंतु पति मानने के लिए तैयार नहीं था। वह अपनी पत्नी को प्रताड़ित भी कर रहा था। तंग आकर महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना जब महिला के मायके वालों को मिली तो महिला के भाई ने गांव पहुंच कर पुलिस के सामने साफ तौर पर कहा कि उसकी बहन को जानबूझकर आत्महत्या के लिए उसके पति ने ही उकसाया था। वह बार-बार प्रताड़ित करता था। अब पुलिस इस मामले में आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर मृतक के पति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

बताया जाता है कि लोहरदगा जिले के सेन्हा थाना क्षेत्र के बदला बोधा टोली गांव निवासी बाबूलाल उरांव की शादी कुडू थाना क्षेत्र के विश्रामगढ़ निवासी बुलु उरांव की पुत्री दासो उरांव (26 वर्ष) के साथ हुई थी। कुछ वर्षों तक तो दोनों के बीच सब कुछ ठीक-ठाक था, परंतु हाल के समय में बाबूलाल किसी दूसरी महिला के चक्कर में पड़ गया था। इस बात की जानकारी बाबूलाल की पत्नी दासो उरांव को भी हुई थी। वह बार-बार बाबूलाल को समझा रही थी, परंतु बाबूलाल उस महिला का साथ छोड़ने के बजाय अपनी पत्नी को ही प्रताड़ित कर रहा था। इस बात से दासो उरांव मानसिक रूप से काफी ज्यादा परेशान थी।

पिछले दो-तीन दिनों से उनके बीच झगड़ा भी हो रहा था। शुक्रवार की सुबह दासो ने घर में सब के लिए नाश्ता बनाया और उसके बाद अपने घर के कमरे में लकड़ी के बल्ली के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घर वालों को काफी देर बाद इसकी जानकारी हुई। इसके बाद मामले की सूचना सेन्हा थाना पुलिस और दासो उरांव के स्वजनों को दी गई। मौके पर पहुंचे दासो उरांव के भाई तड़कन उरांव ने दासो के पति पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया। पुलिस तड़कन उरांव के बयान पर दासो उरांव के पति बाबूलाल उरांव के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है। इस घटना से मृतक के मायके में शोक की लहर दौड़ गई है। सेन्हा थाना प्रभारी सूरज प्रसाद का कहना है कि पुलिस अनुसंधान कर रही है। प्रारंभिक तथ्यों के आधार पर किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सकता है। पूरी जांच के बाद ही पुलिस किसी नतीजे पर पहुंचेगी।

Edited By: Kanchan Singh