गढ़वा, [दीपक]। झारखंड के गढ़वा में शनिवार को मानवता को शर्मसार कर देने वाली तस्वीर सामने आई। शाम करीब पांच बचे एनएच-75 पर चिनियां मोड़ के निकट एक ठेले पर शव को लादकर एक व्यक्ति तेजी से शहर की ओर बढ़ा चला जा रहा था। उसे रोककर जब शव के बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि यह किसी अज्ञात व्यक्ति का शव है। अस्पताल द्वारा उसे शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाने को कहा गया है।

जब इस मामले की छानबीन की गई तो पता चला कि छह जनवरी को डंडई थाना क्षेत्र में एक कुएं इस अज्ञात युवक का शव बरामद हुआ था। शव को पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया था। पोस्टमार्टम के बाद शव की पहचान नहीं हो पाने के बाद उसे शनिवार को अंतिम संस्कार के लिए स्वीपर के हवाले कर दिया। शव ले जाने के दौरान कहीं भी एक भी पुलिसकर्मी नजर नहीं आए। स्वीपर, शव को ठेले पर खींचते हुए बेपरवाह दानरो नदी की ओर जाता रहा। इस दौरान शव से उठ रहे दुर्गंध से लोग परेशान रहे।

लावारिस शव की अंत्येष्टि की जवाबदेही पुलिस की है। अस्पताल के शवगृह में शव को सुरक्षित रखने के लिए लगी मशीन अभी काम नहीं कर रही है। बर्फ के सहारे शव को यहां रखा जा रहा है। बर्फ पुलिस उपलब्ध कराती है। -

डा. नंद किशोर रजक, सिविल सर्जन, गढ़वा।

अस्पताल प्रबंधन को उक्त लावारिस शव को मुक्तिवाहन से डिस्पोजल के लिए कहा गया था, लेकिन सूचना मिल रही है कि शव को ठेले से भेजा गया। यह दुर्भाग्यपूर्ण बात है।  - बहामन टूटी, एसडीपीओ, गढ़वा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप