रांची, जेएनएन। Ayodhya - अयोध्या मामले पर शनिवार को आने वाले फैसले को देखते हुए राज्य में हाई अलर्ट है। पुलिस मुख्यालय ने सभी एसपी को यह निर्देश दिया है कि संवेदनशील क्षेत्रों में सीसीटीवी कैमरे व वीडियोग्राफी की व्यवस्था रखें। उपद्रव करने वालों की वीडियोग्राफी होगी, ताकि उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। वहीं उपद्रवियों के विरुद्ध सख्ती बरती जाएगी।

डीजीपी कमल नयन चौबे ने उम्मीद जताई है कि न्यायालय का फैसला चाहे जो आए, सभी समुदाय न्यायालय की सौम्यता बनाए रखेंगे। इस दौरान जुलूस निकालने पर पाबंदी लगा दी गई है। संवेदनशील गांव व शहर पर नजर रखी जा रही है। साथ ही आपसी सौहार्द बिगाडऩे वालों को चिह्नित किया जा रहा है, जिनके खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता 107 व 116 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

सीसीटीवी व वीडियोग्राफी की व्यवस्था कर ली गई है। एंटी रायट ड्रिल भी जारी है। सभी एसपी समाज के प्रबुद्ध लोगों के संपर्क में हैं, ताकि वे समाज के प्रबुद्ध लोगों को अपने साथ जोड़ सकें। ताकीद की गई है कि सभी एसपी संबंधित जिलों के उपायुक्त के साथ मिलकर स्पेशल ड्रिल चलाएं, बल की प्रतिनियुक्ति करें, ताकि जिलों में शांति-व्यवस्था कायम रहे।

संदिग्धों की तलाश तेज, खुफिया के अधिकारियों की सक्रियता बढ़ी

राज्य में संदिग्धों की तलाश तेज कर दी गई है। भीड़भाड़ वाले इलाके में खुफिया के अधिकारियों की सक्रियता बढ़ा दी गई है। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट पर भी खुफिया के अधिकारियों की नजर है। शहरों में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हर चेहरे पर पुलिस की नजर है। चौकसी जारी है।

संवेदनशील जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

संवेदनशील जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सभी समुदाय के लोगों से शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की गई है। थाना स्तर पर पुलिस अधिकारी सभी समुदाय के प्रबुद्ध लोगों के संपर्क में है और समाज की नब्ज टटोल रही है। जहां भी कोई शंका हो रही है, वहां सत्यापन जारी है।

अलर्ट मोड में हैं सभी सुरक्षित बल

राज्य में सभी सुरक्षित बल अलर्ट मोड में है। पुलिस केंद्रों में रह रहे सभी जवानों को अलर्ट मोड में रहने का निर्देश है। वहीं, अद्र्धसैनिक बलों को भी चौकसी बरतने का निर्देश दिया गया है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप