रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य में विधानसभा चुनाव की तिथि की घोषणा भले ही नहीं हुई है, लेकिन इसकी सरगर्मी तेज है। पिछले दो दिनों से विधानसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था सहित अन्य मसलों पर प्रदेश की नब्ज टटोली जा चुकी है। इसी क्रम में अब यह तय हुआ है कि घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदानकर्मियों की हेलीड्रॉपिंग होगी, ताकि सभी सुरक्षित मतदान करवा सकें।

इसकी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। प्लान बना है कि भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टर के माध्यम से हेलीड्रॉपिंग होगी। इसके लिए संबंधित क्षेत्रों में पूर्व में बने हेलीपैड की मरम्मत कार्य व वहां की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव-2019 में हेलीड्रॉपिंग पर खर्च हुए 1.51 करोड़ रुपये

गृह विभाग से मिली जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदानकर्मियों की हेलीड्रॉपिंग पर एयरलिफ्ट शुल्क के रूप में एक करोड़, 51 लाख, 25 हजार रुपये खर्च हुए थे। एयरफोर्स मुख्यालय ने गत माह ही झारखंड सरकार को पत्राचार कर इसकी जानकारी दी थी और उक्त राशि के भुगतान की मांग की थी।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस