रांची, जेएनएन। लंबे अरसे के बाद रांची में शनिवार को मूसलधार बारिश हुई। मानसून सीजन में अभी तक रांची में हल्के से मध्यम दर्जे की ही बारिश हुई थी, लेकिन शनिवार को रांची में झूमकर सावन बरसा। इस दौरान रांची में 89 एमएम बारिश रिकार्ड किया गया, जो इस साल के सबसे ज्यादा बारिश है। मूसलाधार बारिश होने के कारण कुछ घंटे के लिए शहर में नाली और सड़क में फर्क समाप्त हो गया।

कई जगह नाली का पानी सड़क पर बहने लगा। इसमें वाहनों और पैदल लोगों को गुजरने में काफी परेशानी हुई। कई जगह सड़कों पर डेढ़ से दो फीट पानी जमा हो गया। शहर के विभिन्न इलाकों में सड़क पर जल जमाव की स्थिति पैदा हो गई। जल जमाव के कारण सड़क पर घंटों आवागमन भी प्रभावित रहा।

सीएम का चौपर नहीं भर सका उड़ान, निशिकांत के चार्टर्ड प्लेन से पटना होकर लौटे रघुवर

उप राजधानी दुमका में भाजपा की बैठक में भाग लेने पहुंचे मुख्यमंत्री रघुवर दास खराब मौसम के कारण सीधे रांची नहीं लौट सके। सांसद निशिकांत दुबे के चार्टर्ड प्लेन से वे पटना होते हुए रांची लौटे। पटना में चार्टर्ड प्लेन ईधन लेने के लिए पहुंचा था। इसके पूर्व मुख्यमंत्री चौपर से बोकारो होते हुए दुमका पहुंचे थे। सूत्र बता रहे हैं कि चौपर तकनीकी खामियों के कारण उड़ान नहीं भर सका। दुमका से सवा छह बजे के करीब चले सीएम देर शाम 7.30 बजे रांची पहुंचे।

जानकारी के अनुसार शनिवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास बोकारो होते हुए दुमका गए थे। दुमका से लौटने के क्रम में अधिक बारिश के कारण चौपर को रांची में उतरने में कठिनाई की बात कही गई। तकनीकी खामी की कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। मौसम भी खराब था। इस कारण से चौपर को छोड़कर सीएम के लिए सांसद निशिकांत दुबे का चार्टर्ड विमान मंगाया गया। 10 सीटों वाला यह चार्टर्ड विमान पहले से ही निर्धारित मार्ग पटना होते हुए रांची पहुंचा। रांची से सांसद निशिकांत दुबे चार्टर्ड प्लेन से लौट गए।

आज भी भारी बारिश की चेतावनी

रांची समेत मध्य झारखंड के जिलों में आज भारी बारिश हो सकती है। मौसम केंद्र रांची ने इसकी चेतावनी जारी की है। हालांकि 29 अगस्त तक रांची में हल्के से मध्य दर्जे की बारिश का क्रम जारी रहेगा। मानसून की इस सीजन में अभी तक रांची में अच्छी बारिश नहीं हुई थी। जिस कारण से कुल बारिश सामान्य बारिश से 40 फीसद कम हुई थी। अच्छी बारिश होने से सामान्य और औसतन वर्षानुपात के बीच का अंतर कम होगा।

मौसम वैज्ञानिक उपेंद्र श्रीवास्तव ने बताया की गंगेटिक वेस्ट बंगाल तथा आसपास के क्षेत्र में साइक्लोनिक सर्कुलेशन का क्षेत्र बना है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, उत्तरी उड़ीसा तथा उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में संयुक्त रूप से लो प्रेशर का क्षेत्र बना हुआ है। जो अगले 24 घंटे में और मजबूत होने की संभावना है। जिसका असर मध्य झारखंड में दिख रहा है। लो प्रेशर के कारण अगले 24 घंटे तक रांची समेत झारखंड के अधिकतर हिस्से में अच्छी बारिश होगी। खासकर दक्षिण और मध्य झारखंड में कहीं-कहीं भारी बारिश होगी। 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस