संसू, इटकी : इटकी क्षेत्र में आधी व बारिश के साथ-साथ ओले गिरने से खेतों में लगी फसल के भारी क्षति होने की लगातार सूचना मिल रही है। प्रखंड में लाखों रुपये की फसल के नष्ट हो जाने का अनुमान है। ओले गिरने के बाद खेतों का मुआयना करने पहुंचे किसान फसल की स्थिति को देख सिर पर हाथ रखने को मजबूर हो गए हैं। कोईरी टोला के रमेश महतो, गणेश महतो, कन्हैया महतो, प्रदीप महतो, भूषण महतो, जतरू उराव व दिनेश महतो सहित कई अन्य किसानों ने जानकारी दी कि वे सब बैंक से ऋण लेकर हरी मिर्च, फ्रेंचबीन, मूली, धनिया, गाजर, मक्का, पत्ता गोभी व शिमला मिर्च सहित अन्य की फसल उगाई। पर, ओलावृष्टि से तैयार फसल पूरी तरह नष्ट हो गई। इधर, क्षेत्र में आई प्राकृतिक विपदा का मुआयना किए जाने को लेकर प्रखंड के पूर्व जिप सदस्य मसूद आलम ने रविवार को भ्रमण किया व आधी से क्षतिग्रस्त हुए मकान मालिकों से भेंट की। उन्होंने पीड़ित परिवारों को अपनी ओर से तत्काल राहत पहुंचाने की बातें कही।

------

आधी-बारिश से बदहाल हुई बिजली 36 घटे बाद भी बहाल नहीं हुई

संसू, इटकी : तेज आधी व बारिश से बदहाल हुई बिजली आपूर्ति 36 घटों में भी इटकी के ग्रामीण इलाके में बहाल नहीं हो सकी। जबकि इटकी शहरी क्षेत्र में 26 घटे का अधिक का समय लगा। शनिवार की दोपहर करीब ढाई बजे ठप हुई बिजली रविवार को अपराह्न 4.20 बजे तक ग्रामीण इलाकों में बिजली बहाल की गई, लेकिन पाच मिनट बाद बिजली पुन: गुल हो गई। इटकी प्रखंड के गढ़गाव, कुर्गी, पलमा, कुली, जंगली हाथी प्रभावित क्षेत्र सहित अन्य इलाकों में अब तक बिजली बहाल नहीं की जा सकी है। ।

-------

आलम ने सरकार से क्षतिग्रस्त फसलों व मकानों का सर्वे कराने व तत्काल राहत पहुंचाने की माग की है।