रांची, राज्य ब्यूरो। बिजली आपूर्ति के लिहाज से कम उपलब्धता वाले क्षेत्रों में शुमार गढ़वा और गिरिडीह में आने वाले दिनों में इसकी किल्लत दूर होगी। दोनों स्थानों पर बना पावर सबस्टेशन जल्द ही चार्ज होगा। इससे इन जिलों से सटे इलाकों में भी बिजली आपूर्ति की व्यवस्था बेहतर होगी। प्रतिकूल मौसम में भी इसे आरंभ करने के लिए बिजली संचरण निगम ने वरीय इंजीनियरों के दल को लगाया है। निर्देश दिया गया है कि 15 अगस्त से पहले काम को पूरा कर लिया जाए।

योजना स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इसका ऑनलाइन शुभारंभ कराने की है। बताते चलें कि ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने जल्द से जल्द संबंधित क्षेत्र की अधूरी योजनाओं को पूरा करने का टास्क अफसरों को सौंपा था। गढ़वा-गिरिडीह में बिजली आपूर्ति को लेकर कई स्तरों पर शिकायतें थी। मुख्यमंत्री को बताया गया था कि यहां के ग्रिड सबस्टेशन तैयार हैं। इसमें जसीडीह, गिरिडीह, जमुआ, सरिया, गढ़वा ग्रिड शामिल है। इसकी क्षमता 220 केवी और 132 केवी की है।

निर्माणाधीन ग्रिड सबस्टेशनों में तेजी से काम

गढ़वा-गिरिडीह से इतर लातेहार, पतरातू, रातू, चतरा, बहरागोड़ा, धालभूम में ग्रिड सबस्टेशन निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है। इन योजनाओं में 72 से 90 फीसद तक काम हो चुका है। रातू और चतरा ग्रिड भी चार्ज करने के लिए तैयार है। रातू-पतरातू ट्रांसमिशन लाइन में पर्यावरण को लेकर कुछ परेशानियां आ रही है। इसी प्रकार चतरा-लातेहार ट्रांसमिशन लाइन का पर्यावरण क्लीयरेंस बाकी है। इन तमाम परियोजनाओं का काम तेज करने के लिए उप महाप्रबंधक स्तर के अधिकारी तैनात किए गए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021