गढ़वा, जासं। Jharkhand Crime News, Garhwa Samachar गढ़वा शहर के सोनपुरवा बस स्टैंड में बस एजेंट शैलेश केसरी एवं कईल दुबे की हत्या के मामले में पुलिस ने छोटू रंगसाज गिरोह के 11 अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इन्हें आवश्यक प्रक्रिया के बाद जेल भेज दिया गया है। उक्त हत्याकांड बस स्टैंड में वर्चस्व कायम करने एवं व्यवसायियों में दहशत फैलाने को लेकर अंजाम दिया गया था। हत्या की साजिश जेल में बंद छोटू रंगसाज द्वारा रची गई थी। हालांकि इस मामले में शूटर समेत तीन अन्य लोग पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस द्वारा सघन छापेमारी की जा रही है।

उक्त जानकारी पुलिस अधीक्षक श्रीकांत एस खोटरे ने बुधवार को अपने कार्यालय में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार लोगों के पास से दो देसी कट्टा, एक कारतूस, एक पल्सर मोटरसाइकिल एवं 18 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। एसपी ने बताया कि जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें दुर्दांत अपराधी छोटू रंगसाज उर्फ रियाजुद्दीन की पत्नी सलमा खातून उर्फ पिंकी ,पलामू जिले के रियाज अहमद खान, गढ़वा के संतोष चंद्रवंशी, पप्पू खान उर्फ शाहिद अली, पलामू के इरशाद आलम, सज्जू उर्फ सज्जाद अहमद, सोहेल अहमद, डमडम उर्फ नईम रंगसाज, पलामू, सत्या पासवान गढ़वा, सलाहु उर्फ मोहम्मद सलाउद्दीन खान गढ़वा एवं उदित चंद्रवंशी गढ़वा का नाम शामिल हैं।

गिरफ्तार लोगों ने इस हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। एसपी ने बताया कि विगत 28 मई को सोनपुरवा बस स्टैंड में बस एजेंट शैलेश केसरी उर्फ पिंकू केसरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में कईल दुबे गंभीर रूप से घायल हो गया था। बाद में उसकी भी मौत हो गई। इस हत्याकांड की जांच को लेकर विशेष टीम का गठन किया गया था। टीम ने सघन छापामारी अभियान चलाकर इस हत्याकांड में शामिल लोगों को गिरफ्तार किया है ।

इस हत्याकांड में कुल 14 लोगों की संलिप्तता सामने आई है। इसमें से 3 लोग अभी फरार हैं। उनकी भी जल्द गिरफ्तारी कर ली जाएगी। छापेमारी दल में पुलिस अवर निरीक्षक योगेंद्र कुमार, अभय कुमार, संजय कुमार, सदानंद कुमार, आकाश पन्ना, नीरज कुमार, कमलेश कुमार महतो, अजीत कुमार, संजय कुमार कुशवाहा, अभिमन्यु कुमार सिंह शामिल थे।