गढ़वा, जेएनएन। Garhwa News, Jharkhand News झारखंड के गढ़वा जिले से शर्मसार करने वाली खबर है। रिश्‍तों में धोखाबाजी कर एक चाचा ने अपनी भतीजी से शारीरिक संबंध बनाया है। बाद में ममला खुलने पर गांव में पंचायती कर गंदा काम को दबाने की कोशिश की गई। नाबालिग लड़की से हुए दुष्कर्म के कथित आरोपित व उसके पक्ष के लोगों द्वारा पंचायती कराकर दबाने का मामला प्रकाश में आया है। इस कारण 14 वर्षीया लड़की का समुचित इलाज भी नहीं हो सका है।

इसकी जानकारी मिलने पर जिला बाल कल्याण समिति गढ़वा ने मामले में संज्ञान लेते हुए कार्रवाई प्रारंभ की है। जानकारी के अनुसार पीड़िता नाबालिग लड़की पलामू जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के बोंड़ी गांव की रहनेवाली है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। पीड़िता की मां अपने घर में नहीं थी। नाबालिग लड़की को घर में अकेली पाकर उसके रिश्ते में चाचा मनसूफ अंसारी ने शुक्रवार की शाम को दुष्कर्म किया था।

शनिवार की सुबह में पीड़िता को लेकर उसकी मां गांव के निकट स्थित रंका सीएचसी में पहुंची थी। रंका सीएचसी के चिकित्सक ने गाइनो चिकित्सक से दिखाने की बात कहकर सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। इसके पश्चात आरोपित मनसूफ अंसारी व उसके पक्ष के लोग मां बेटी को बिना इलाज कराए ही गांव वापस ले गए। वहां पंचायती कराकर दुष्कर्म के मामले को थाना में दर्ज नहीं कराने को कहा गया। साथ ही पीड़िता नाबालिग का इलाज ग्रामीण चिकित्सक से कराया गया।

इधर, इस संबंध में जिला बाल कल्याण समिति के चेयरपर्सन उपेंद्रनाथ दूबे ने बताया कि इस मामले में जेजे एक्ट 2015 झारखंड नियम 2017 एवं पोक्सो एक्ट 2012 एवं 2020 के तहत न्याय दिलाने के लिए संज्ञान लेते हुए गढ़वा व पलामू के डीसीपीओ व डीएसडब्ल्यूओ तथा चैनपुर, पलामू व रंका के थाना प्रभारी को कार्रवाई के लिए निर्देश दिया गया है।

Edited By: Alok Shahi