बड़गड़ (गढ़वा) संवाद सूत्र। एसपी अंजनी कुमार झा को मिले गुप्त सूचना के आलोक में इनके निर्देश पर गठित टीम ने बड़गड़ प्रखंड के टेहरी पंचायत की मुखिया के पति से उग्रवादी संगठन टीपीसी के नाम पर लेवी मांगने के आरोप में पुलिस ने असलहा के साथ चार अपराधियों को धर दबोचा है। गिरफ्तार अपराधियों में जितेंद्र यादव पिता मोहन यादव परसवार, आजाद अंसारी पिता शौकत अंसारी, अनिल यादव पिता नन्हक यादव, माधवखांड, रामगढ़ पलामू तथा माधव पनिका पिता प्रभु पनिका, बरकोल भंडरिया का नाम शामिल है।

तलाशी के दौरान इनके पास से छह राउंड का एक देशी रिवाल्वर, एक दो नाली देशी रिवाल्वर, एक देशी रिवाल्वर, दो कारतूस, दो मोबाइल बरामद किया गया है। मंगलवार को भंडरिया थाना में इसकी जानकारी देते रंका के एसडीपीओ सुदर्शन कुमार आस्तिक एवं भंडरिया के इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत ने बताया कि एसपी अंजनी कुमार झा से टेहरी पंचायत की मुखिया प्रभा कुजूर के पति सियोन बाखला द्वारा शिकायत की गई थी कि कुछ लोग टीपीसी के नाम पर उनसे लेवी की मांग कर रहे हैं। साथ ही लेवी नहीं देने पर बुरा अंजाम भुगतने की धमकी दी जा रही है। उनकी धमकी से पूरा परिवार दहशत में है।

सूचना के बाद आलोक में एसपी द्वारा रंका के एसडीपीओ सुदर्शन कुमार आस्तिक के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। जिसमें भंडरिया थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत, बड़गड़ ओपी प्रभारी पुअनि कुंदन कुमार सिंह, मदगड़ च ओपी प्रभारी चंद्रदेव कुमार सहित सशस्त्र बल के जवान शामिल थे। गिरफ्तार सभी अपराधी, टीपीसी उग्रवादी संगठन के नाम पर फोन से लेवी मांगने, अलग-अलग जगहों पर पर्चा साटने सहित कई आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा था।

पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए तत्परता से बड़गड़ ओपी अन्तर्गत परसवार गांव से जितेंद्र यादव एवं आजाद अंसारी को हथियार के साथ परसवार गांव से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बतया कि जितेंद्र यादव के निशानदेही पर लेवी मांगने में सहयोगी रहे बरकोल गांव का माधव पनिका तथा पलामू के रामगढ़ थाना क्षेत्र के माधवखाड़ गांव निवासी अनिल यादव को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों से लेवी मांगने में प्रयुक्त मोबाइल भी बरामद किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार चारों अपराधियों ने बड़गड़ ओपी के परसवार गांव में मार्च माह में चोरी, बाडी़ खजुरी गांव में ग्राहक सेवा केंद्र में लूट करने सहित अन्य कई घटनाओं में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है। आवश्यक प्रक्रिया पूरी कर उक्त सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Edited By: Sanjay Kumar