रांची, जासं। झारखंड को पर्यटन हब बनाने की जोरों से तैयारी चल रही है। खासकर कोरोना के बाद इस दिशा में पर्यटन विभाग जुट गया है। कोरोना संक्रमण के बाद पर्यटन केंद्र खुलने के साथ ही कई पर्यटन स्थलों को एडवेंचर टूरिज्म के रूप में विकसित करने की तैयारी है। कोरोना के पहले कांके डैम, चांडिल डैम और मसानजोर डैम आदि जगहों पर वाटर एडवेंचर खोलना था, लेकिन जिस एजेंसी का चयन किया गया था वह काम नहीं कर सकी। पर्यटन विभाग के जीएम डा आलोक प्रसाद बताते हैं कि फिर से इन जगहों के लिए टेंडर निकाला जाएगा और नई एजेंसी का चयन होगा।

पिछली बार जो टेंडर निकाला गया था उसे रद कर दिया गया है। इन जगहों को विकसित कर झारखंड के टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा। यहां पर एडवेंचर टूरिज्म के साथ-साथ बच्चों के लिए भी कई आकर्षक खेल भी उपलब्ध कराए जाएंगे। झारखंड में अभी कई पर्यटन स्थलों में एडवेंचर टूरिज्म की व्यवस्था है। इनमें अभी पतरातू डैम, हुंडरू फॉल, जोन्हा फॉल और पंचघाघ में व्यवस्था की गई है। यहां पर स्पीड बोटिंग, रोप कोर्स, क्लाइबिंग, जीप लाइन आदि एडवेंचर का सैलानी लुफ्त उठाने यहां पहुंचते हैं।

इन जगहों पर एडवेंचर है मौजूद :

हुंडरू फॉल :

-जीप लाइन

-लो रोप कोर्स

जोन्हा फॉल :

- जीप लाइन

- लो रोप कोर्स

- हाई रोप कोर्स

पतरातू :

- स्पीड मोटर बोटिंग

- केयाट बोट, हाउस बोट

- बोटिंग

Edited By: Kanchan Singh