रांची, जासं। सीबीआइ के विशेष जज एसके शशि की अदालत में सोमवार को चारा घोटाला मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद की ओर से अपने बचाव में आठ गवाहों की सूची सौंपी गई। इसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री जय प्रकाश यादव, आइजी रैंक के आइपीएस अधिकारी सुनील कुमार, तत्कालीन सचिव मुकुंद कुमार, गुलाम ताहिर, दुर्गा प्रसाद, अशोक कुमार चौधरी, कारू राम और एजाज हुसैन शामिल हैं। आइपीएस अधिकारी सुनील कुमार पूर्व में अदालत में गवाही देने रांची आ चुके हैं।

दो सप्लायर संदीप मल्लिक व रामा शंकर सिंह की ओर से भी अपने बचाव में तीन-तीन गवाह पेश किए गए हैं। यह मामला डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है। 11 मार्च 1996 को सीबीआइ ने प्राथमिकी दर्ज की थी। इसमें 170 लोगों को आरोपित बनाया गया था, जिनमें संयुक्त बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा, पीएसी के तत्कालीन अध्यक्ष जगदीश शर्मा, पूर्व सांसद आरके राणा आदि शामिल हैं। सुनवाई के दौरान 43 आरोपितों की मौत हो चुकी है।

आज से बचाव पक्ष की ओर से शुरू होगी गवाही

रांची स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में पुलिस अभिरक्षा में इलाज करा रहे लालू प्रसाद पिछले 16 जनवरी को अपना बयान दर्ज कराने अदालत पहुंचे थे। मामले की प्रतिदिन सुनवाई होनी है। अदालत के आदेश के अनुसार मंगलवार से बचाव पक्ष की ओर से गवाही शुरू होगी। लालू की ओर से केस की पैरवी कर रहे रांची सिविल कोर्ट के वरीय अधिवक्ता प्रभात कुमार ने कहा कि गवाहों के अलावा कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी अदालत में पेश किए जाएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस