रांची : सीएम आवास के सामने बीते सात सितंबर की रात आठ बजे एसपीओ बुधु दास की गोली मारकर हत्या मामले में पुलिस शूटरों की तलाश कर रही है। रांची पुलिस और सीआइडी की टीम अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है। हालांकि इसमें सफलता नहीं मिली है। इस मामले में सात लोगों को हिरासत में रखकर पूछताछ की जा रही है।

हालांकि पुलिस इस निष्कर्ष तक पहुंच चुकी है कि बुधु की हत्या पहले मारने की होड़ में की गई थी। बबलू कुम्हार ने ही सुपारी देकर बुधु की हत्या करवा दी है। पिछले दो वर्षो से बुधु और बबलू कुम्हार के बीच खूनी अदावत चल रही थी। इसमें पहला मामला वर्ष 2017 में बबलू की पत्‍‌नी एक मुस्लिम युवक के साथ भाग गई थी। इस मामले में बुधु दास और उसके करीबी सूरज उरांव पर भगाने का मामला बुंडू थाने में दर्ज कराया था। उस समय पत्‍‌नी को वह छुड़ाकर ले आया था। उसी समय बबलू के भाई भज्जू कुम्हार की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का सूत्रधार बबलू बुधु को मानकर चल रहा था। इन दो मामलों के अलावा तीसरा विवाद पिछले वर्ष बंडू बस स्टैंड से टोकन काटने का ठेंका को लेकर था। बस स्टैंड का ठेंका सूरज के साथ बुधु ले फिर से लिया था। जबकि वह ठेंका बबलू करना चाहता था। पत्‍‌नी के सामने भी बबलू ने बुधु को धमकी दे चुका था। इधर बबलू पर भी 31 मई 2018 को हमला हुआ था। इस हमले का आरोप बुधु पर लगाया था।

Posted By: Jagran