खास बातें

  • नए विस भवन में अग्निकांड की जांच शुरू, साजिश का अंदेशा
  • रांची एसएसपी ने बनाई विशेष टीम, इलेक्ट्रिक स्वीच बोर्ड में मिले स्पार्क के निशान
  • केमिकल सैंपल की जांच करेगी एफएसएल की टीम, कई नमूने किए गए एकत्र
  • इंटिग्रेटेड इंटेलिजेंट बिल्डिंग मैनेजमेंट सिस्टम की भी गहनता से हुई जांच
  • हादसे से पहले अधिकारियों और साइट इंचार्ज की हुई थी मीटिंग, 15 मिनट बाद देखा गया धुआं

रांची, जेएनएन। Fire in Jharkhand Assembly विधानसभा के नए भवन में आग लगने की घटना की रांची पुलिस ने गुरुवार को जांच शुरू कर दी। पुलिस साजिश के अंदेशे को भी ध्यान में रखकर जांच कर रही है। घटनास्थल पर पहुंचे रांची पुलिस के अधिकारियों व फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री (एफएसएल) की टीम ने सबूत इकट्ठे किए। पश्चिमी हिस्से में फैले मलबों के बीच सुराग तलाशे गए। कई नमूने एकत्र किए गए। इस दौरान विधानसभा भवन के ग्राउंड फ्लोर और फस्र्ट फ्लोर के पावर रूम, स्वीच बोर्ड, इलेक्ट्रिक सर्किट, इंटिग्रेटेड इंटेलिजेंट बिल्डिंग मैनेजमेंट सिस्टम सहित कई उपकरणों की गहनता से जांच की गई।

बताया जा रहा है स्वीच बोर्ड और चेंजर में स्पार्क के कुछ निशान मिले हैं। इसे ध्यान में रखकर जांच हो रही है। हालांकि, अब तक आग लगने की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। फॉरेंसिक टीम एकत्र किए गएसैंपल की केमिकल जांच करेगी। मौके पर रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता भी मौजूद थे। उन्होंने रामकृपाल कंस्ट्रक्शन कंपनी के जीएम अमरनाथ झा सहित अन्य अधिकारियों से घटना की जानकारी ली। 

जांच में अहम तथ्य आए सामने

कंस्ट्रक्शन कंपनी के जीएम ने एसएसपी को बताया कि बुधवार को शाम साढ़े सात बजे अधिकारियों और साइट इंचार्ज की एक मीटिंग हुई थी। लोग वहां से निकले, तो साइट पर मौजूद सुरक्षा गार्ड और मजदूरों ने गेट बंद कर दिया। कुछ देर के बाद अचानक धुआं उठने लगा। लोग मौके पर पहुंचे। भवन में जो फायर सिस्टम उपलब्ध था, उससे आग बुझाने की कोशिश की गई। लेकिन, इसने काम नहीं किया। इस बीच आग ने भयावह रूप ले लिया। 

घटना में साजिश की आशंका है। गहन जांच के बाद स्थिति पूरी तरह स्पष्ट होगी। - सुनील कुमार, सचिव, भवन निर्माण विभाग, झारखंड।   

विधानसभा भवन में आग लगने की घटना की जांच की जा रही है। घटना कैसे हुई, क्या संभावित कारण हो सकते हैं, इन पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच हो रही है। एफएसएल की टीम ने नमूने एकत्र किए हैं।- अनीश गुप्ता, एसएसपी, रांची। 

चीफ इंजीनियर करेंगे नए विधानसभा भवन में लगी आग की जांच

नए विधानसभा भवन में आग लगने के मामले की प्रशासनिक जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच दल का गठन किया गया है। इसका नेतृत्व भवन निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर बीके सिन्हा करेंगे। जांच दल में विभाग के अधीक्षण अभियंता और कार्यपालक अभियंता भी शामिल हैं। ये आग लगने के कारणों की प्रशासनिक जांच रिपोर्ट दो से तीन दिनों में भवन निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार को सौंपेंगे। यह रिपोर्ट पुलिस की जांच से अलग होगी। इस मामले में सुनील कुमार तमाम गतिविधियों की स्वयं निगरानी कर रहे हैं। बता दें कि रांची स्थित नए विधानसभा भवन के एक हिस्से में बुधवार को आग लग गई थी और उस हिस्से को काफी नुकसान पहुंचा है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस