रांची, राज्य ब्यूरो। पूर्वी सिंहभूम जिले के जमशेदपुर के पश्चिमी घोड़ाबांधा ग्राम पंचायत के मुखिया एवं जल सहिया के माध्यम से अवैध तरीके से शौचालय निर्माण मद की राशि गबन करने की पुष्टि हुई है। लोकायुक्त के आदेश पर पूर्वी सिंहभूम के पंचायत राज पदाधिकारी व जमशेदपुर के पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता की जांच में इसकी पुष्टि हुई है। आरोपितों में पश्चिम घोड़ाबांधा पंचायत के मुखिया विजय कुमार हांसदा व जलसहिया पूनम सिन्हा शामिल हैं।

जांच में गबन की पुष्टि के बाद दोषी मुखिया व जल सहिया के विरुद्ध 93175 (तिरानवे हजार एक सौ पचहतर) रुपये की वसूली के लिए जिला नीलाम पत्र पदाधिकारी के न्यायालय में नीलाम पत्र वाद दायर किया गया है। इतना ही नहीं, दोषी मुखिया व जलसहिया के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करा दी गई है। जांच रिपोर्ट व आरोपितों के विरुद्ध की गई कार्रवाई से पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त ने लोकायुक्त कार्यालय को अवगत करा दिया है।

गोविंदपुर थाने में दर्ज कराई गई है प्राथमिकी

पेयजल एवं स्वच्छता प्रशाखा जमशेदपुर में पदस्थापित कनीय अभियंता भागीरथ रमानी के बयान पर जमशेदपुर के गोविंदपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बताया है कि पश्चिम घोड़ाबांधा पंचायत में 50 शौचालय की जांच के दौरान नौ शौचालय के निर्माण में 93175 रुपये की अनियमितता की पुष्टि हुई है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप